कासिच भी हटे, ट्रंप का दावा और पक्का हुआ

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीका में रिपब्लिकन जॉन कासिच ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की रेस से हटने का फैसला किया है.

इसके बाद डोनल्ड ट्रंप का उम्मीदवार बनने का रास्ता और साफ़ हो गया है. एक अन्य दावेदार टेड क्रूज पहले ही मैदान से हट चुके हैं.

ओहायो के गवर्नर के तौर पर कासिच ख़ासे लोकप्रिय रहे हैं, लेकिन वो ओहायो राज्य के अलावा कहीं भी प्राइमरी चुनाव नहीं जीत पाए.

उधर, रिपब्लिकन पार्टी डोनल्ड ट्रंप को समर्थन देने के मुद्दे पर दो फाड़ नजर आ रही है.

कुछ नेताओं ने सोशल मीडिया पर अपनी सदस्यता छोड़ने का एलान भी किया है और विरोध में अपना वोटिंग रजिस्ट्रेशन फॉर्म भी जलाया है.

हालांकि ट्रंप के समर्थन में आने वाले नेताओं की भी कमी नहीं है. उनका कहना है कि लोग डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन के मुकाबले ट्रंप को ज्यादा पसंद कर रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption सियासी विरोध के बावजूद ट्रंप को लगातार लोगों को समर्थन मिल रहा है

इंडियाना प्राइमरी में जीत के बाद ट्रंप को भरोसा है कि उन्हें ही रिपब्लकिन पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी हासिल होगी.

इस बीच, ट्रंप ने कहा है कि वो उपराष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार ऐसे व्यक्ति को चुनेंगे जिसे राजनीतिक अनुभव हो और जो कांग्रेस से कानून पारित करा सके. हालांकि उन्होंने कोई नाम नहीं बताया.

कासिच को रिपब्लिकन दावेदारों में सबसे उदारवादी और हिलेरी क्लिंटन के मुक़ाबले जीत सकने वाला उम्मीदवार माना जा रहा था लेकिन वो लोगों का समर्थन हासिल करने में नाकाम रहे.

कासिच से ज़्यादा प्रतिनिधियों का समर्थन तो फ़्लोरिडा के गवर्नर मार्को रूबिया हासिल करने में सफल रहे जिन्होंने मार्च में ही रिपब्लिकन उम्मीदवारी की रेस से हट जाने का फैसला किया.

कासिच ने वॉशिंगटन में होने वाले अपने कार्यक्रम को रद्द कर दिया है और अब अपने गृह राज्य ओहायो में एक कार्यक्रम रखा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार