रिपब्लिकन डोनल्ड ट्रंप के ये हैं 14 'ट्रंप कार्ड' !

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी की उम्मीदवारी की दौड़ में डोनल्ड ट्रंप के सामने मैदान में अब कोई प्रतिद्वंद्वी नहीं है.

ट्रंप ने अपने प्रचार के दौरान कई विवादास्पद बयान दिए हैं. उन्होंने कहा था कि फिलहाल मुसलमानों को अमरीका में आने से रोका जाए.

एक नज़र डोनल्ड ट्रंप की उन नीतियों और विचारों पर जिनमें उनका है पूरा विश्वास:

1. मुसलमानों ने 9/11 हमले का जश्न मनाया-

ट्रंप बार-बार दावा करते रहे हैं कि अरब मूल के अमरीकियों ने न्यू जर्सी में 9/11 के हमले का जश्न मनाया था. वो कहते है कि ऐसे सार्वजनिक प्रदर्शन अमरीका में रहने वाले मुसलमानों की मनोस्थिति को दर्शाते हैं. हालांकि उनके दावे का समर्थन करती कोई मीडिया रिपोर्टस कहीं मौजूद नहीं हैx.

2. मस्जिदों की निगरानी हो-

ट्रंप का मानना है कि 'आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई के दौरान मुसलमानों पर नज़र रखी जानी चाहिए.' हालांकि वो सभी अमरीकी मुसलमानों के आंकड़े जमा करने के बयानों से पलट चुके हैं लेकिन उन्हें इस बात की परवाह नहीं है कि उनके मस्जिदों पर नज़र रखने के बयान को 'राजनीतिक रूप से ग़लत' माना जाता है.

3. सच उगलवाने के लिए सख़्त यातनाएं देना सही-

इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ लड़ाई में अमरीका को पूछताछ के लिए 'कठोर' तरीक़ों का इस्तेमाल करना चाहिए. उन्होंने कहा कि चरमपंथी जिस तरह से लोगों का सिर क़लम करने जैसे तरीक़े अपनाते हैं उनकी तुलना में ये बेहद मामूली हैं.

4. आईएस पर भारी बमबारी करेंगें-

इमेज कॉपीरइट Faylaq alSham

उनका कहना है कि आईएस के ख़िलाफ़ उनका रवैया बहुत सख़्त होगा. और वो आईएस के पास तेल का जो ज़ख़ीरा है उसे उसके क़ब्ज़े से निकाल लेंगे.

5. सरल टैक्स कोड बनाएँ-

ट्रंप चाहते हैं कि 25 हज़ार डॉलर से कम आय वालों को कोई टैक्स न देना हो. वो एक टैक्स फॉर्म भरेंगे जिसमें लिखा होगा 'मैं जीता.' वो व्यापार कर को 15 फ़ीसद तक कम करने के पक्ष में हैं. बहुराष्ट्रीय कंपनियों को विदेशों से देश पैसा वापस लेने के लिए 10 फ़ीसद की दर से कर देना होगा.

6. अमरीका और मेक्सिको के बीच दीवार-

इमेज कॉपीरइट AFP

चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा कि मेक्सिको से आने वाले प्रवासी 'नशीली दवाओं की तस्करी में लगे हैं. उनके मुताबिक 'जब वो अमरीका आते हैं तो अपराध उनके साथ आता है, और ये लोग बलात्कारी हैं.' वो कहते हैं कि इससे सीरिया की तरफ़ से आने वाले शरणार्थियों पर भी रोक लगेगी. उनका ये भी कहना है कि अमरीका और मेक्सिको के बीच तैयार की जानेवाली दीवार के निर्माण के लिए पैसा मेक्सिको को देना चाहिए. बीबीसी का अनुमान है कि ऐसी दीवार के निर्माण में 2.2 अरब डॉलर से लेकर 13 अरब डॉलर तक ख़र्च होगा.

7. ग़ैर-क़ानूनी तरीके से रह रहे लोगों को वापस भेजा जाएगा-

अमरीका में अनुमान के तौर पर 1.1 करोड़ ग़ैर-क़ानूनी प्रवासियों को वापस उनके देश भेजा जाएगा.

8.पुतिन और ट्रंप की अच्छी बनेगी-

सीएनएन को एक साक्षात्कार में ट्रंप ने कहा कि पुतिन और ओबामा एक-दूसरे को बेहद नापसंद करते हैं और इस वजह से उनके बीच कोई समझौता नहीं हो सकता.

उनका ये भी कहना है कि 'मेरी और उनकी (पुतिन की) अच्छी निभेगी और मुझे नहीं लगता है कि आप उस तरह की दिक्क़तों का सामना कर रहे होंगे जिनसे आप फ़िलहाल जूझ रहे हैं.'

9. जलवायु परिवर्तन की बात धोखा है-

इमेज कॉपीरइट Getty

हालांकि ट्रंप 'स्वच्छ हवा' और 'साफ़ पानी' को अहम मानते हैं लेकिन वो जलवायु परिवर्तन की बात को 'धोखा' बताकर खारिज़ करते हैं और मानते हैं कि व्यवसाय पर लगे पर्यावरण प्रतिबंध उन्हें वैश्विक बाज़ार में कम प्रतिस्पर्धी बनाते हैं.

10. सद्दाम और गद्दाफ़ी होते तो बेहतर होता-

ट्रंप ने सीएनएन से कहा है कि उनका मानना है कि अगर 'दोनों तानाशाह ज़िंदा होते' तो लीबिया और इराक़ के हालात बेहतर होते. हालांकि वो मानते हैं कि 'सद्दाम एक डरावनी शख़्सियत थे लेकिन उन्होंने चरमपंथियों से बेहतर तरीक़े से लड़ा था.'

11. चीन को सबक़ सिखाया जाना चाहिए-

वो कहते हैं कि राष्ट्रपति बनने के बाद वो चीन को इस बात के लिए मजबूर करेंगे कि वो अपनी मुद्रा का मुल्यांकन बढ़ा-चढ़ाकर न करे. साथ ही वो चीन पर ज़ोर देंगे कि वो श्रम और पर्यावरण के मुद्दों को भी व्यापार के साथ लेकर चले.

12. नैटो- उत्तर अटलांटिक संधि संगठन पैसे बटोरने का तरीक़ा-

इमेज कॉपीरइट GEO EYE

वो कहते हैं कि अमरीका को नैटो के लिए सबसे ज़्यादा पैसे देने पड़ते हैं और ये उचित नहीं है.

13. जापान और दक्षिण कोरिया परमाणु हथियार बनाएं:

ट्रंप का मानना है कि जापान और दक्षिण कोरिया को सुरक्षा के लिए अमरीका पर निर्भर नहीं होना चाहिए और अपने परमाणु हथियार बनाने चाहिए. वो मानते हैं कि जापान और उत्तर कोरिया के बीच अगर लड़ाई हुई तो वो भयावह होगी लेकिन वो जल्द ख़त्म हो जाएगी.

14. गर्भपात करवाने वाले डॉक्टरों को सज़ा मिले-

एमएसएनबीसी को दिए गए एक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि गर्भपात को अगर गैर-क़ानूनी क़रार दिया जाता है तो जो औरतें इसे अपनाती हैं, उन्हें सज़ा मिलनी चाहिए. लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि इसके लिए डॉक्टर ज़िम्मेदार है और उसे सज़ा दी जाए.

(जेसिका और एशले गोल्ड द्वारा संकलित)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार