चीन में फ़ेसबुक ने जीता ट्रेडमार्क का केस

फेसबुक इमेज कॉपीरइट Getty

बीजिंग की एक अदालत ने फेसबुक नाम को लेकर ट्रेडमार्क की लड़ाई में फेसबुक के पक्ष में फैसला सुनाया है.

मामला फेसबुक और एक चीनी कंपनी के बीच चल रहा था जिसने "फेस बुक" नाम से कंपनी रजिस्टर कराई थी.

अदालत ने कहा कि ये स्पष्ट है कि चीनी कंपनी ने एक हाई-प्रोफाइल ट्रेडमार्क को नक़ल करने के इरादे से नैतिक सिद्धांतों का उल्लंघन किया.

इमेज कॉपीरइट Getty

होंगशान पर्ल रिवर कंपनी ने साल 2014 में इस नाम को रजिस्टर कराया था.

चीन में सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर पाबंदी है लेकिन हाल ही में फेसबुक चीनी बाज़ार में प्रवेश करने की कोशिश में जुटा है.

इस फैसले के बाद चीन के मीडिया में कयास है कि क्या अब चीन फेसबुक के लिए अपने नज़रिए में बदलाव लाएगा.

इमेज कॉपीरइट CCTV

हाल ही में चीन के दौरे पर आए फेसबुक के संस्थापक मार्क ज़करबर्ग ने चीन के प्रचार प्रमुख लियू युनशान और मीडिया गुरु जैक मा से मुलाकात की थी.

इमेज कॉपीरइट Sina Weibo

वहीं भारी प्रदूषण के बीच मार्क ज़करबर्ग के बीजिंग में दौड़ लगाने को आलोचकों ने चीन का समर्थन हासिल करने के लिए प्रचार का पैंतरा बताया था.

पश्चिमी देशों की कंपनियों को चीन में लगातार ट्रेडमार्क की लड़ाई लड़नी पड़ती है. पिछले हफ्ते ही एप्पल चीन में ट्रेडमार्क की लड़ाई हार चुका है.

इसका मतलब ये है कि चीनी कंपनी अपने चमड़े के हैंडबैग और दूसरे चमड़े के सामान को "आईफोन" नाम के साथ बाज़ार में बेच पाएगी.

ज़िनटांग टिएंडी ने "आईफोन" ट्रेडमार्क से चमड़े का सामान वर्ष 2010 से ही चीन में बेचना शुरू कर दिया था.

एप्पल ने अपने इलेक्ट्रॉनिक सामान के लिए वर्ष 2002 में "आईफोन" ट्रेडमार्क के लिए अर्ज़ी दी थी, लेकिन इसे साल 2013 तक अनुमोदित नहीं किया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार