'जो चाहें, वो टॉयलेट इस्तेमाल करें ट्रांसजेंडर बच्चे'

इमेज कॉपीरइट Getty

ओबामा प्रशासन ने स्कूलों को हिदायत दी है कि वे ट्रांसजेंडर बच्चों को उनकी चुनी हुई लैंगिक पहचान के अनुसार शौचालय इस्तेमाल करने की इजाजत दें.

अटॉर्नी जनरल लोरेत्ता लिंच ने कहा कि इससे ट्रांसजेंडर बच्चे अपने हमउम्र बच्चों के बीच भेदभाव और उत्पीड़न से बचेंगे.

उन्होंने ये भी कहा कि यदि स्कूल प्रशासन इस निर्देश का पालन नहीं करने पर उन पर मुकदमा चलाया जाएगा या उन्हें संघीय सहायता से हाथ धोना पड़ सकता है.

ट्रांसजेंडर बच्चों को जन्म के समय के लिंग के अनुसार ही टॉयलेट इस्तेमाल करने देने की इजाज़त के कानून पर संघीय सरकार और उत्तरी केरोलिना राज्य के बीच न्यायिक लड़ाई चल रही है.

ओबामा प्रशासन के शिक्षा और न्याय विभाग का कहना है कि पब्लिक स्कूल ट्रांसजेंडर बच्चों की लैंगिक पहचान का आदर करें चाहे उनके शैक्षणिक रिकॉर्ड या पहचान से जुड़े दस्तावेज़ में उनका लिंग दूसरा दिखाया गया हो.

लिंच ने कहा, "हमारे स्कूलों में भेदभाव की कोई जगह नहीं है और इसमें ट्रांसजेंडर विद्यार्थियों से उनके लिंग के आधार पर भेदभाव भी शामिल है."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार