यूक्रेन की जमाला ने जीता यूरोविज़न 2016

जमाला इमेज कॉपीरइट AFP

स्वीडन के स्टॉकहोम में आयोजित हुई इस साल की यूरोविज़न गीत प्रतियोगिता को यूक्रेन की जमाला ने जीत लिया है.

पूर्व सोवियत संघ के नेता जोसेफ़ स्टेलिन के काल में क्रीमिया के तातार समुदाय को ज़बरदस्ती निकाले जाने की घटना पर जमाला ने अपना गीत पेश किया जिसका नाम है '1944.'

यूक्रेन ने अपने गीत 1944 के लिए 534 अंक अर्जित किए और शीर्ष पर रहा.

इमेज कॉपीरइट AFP

दूसरे नंबूर पर ऑस्ट्रेलिया रहा जिसे 511 अंक मिले जबकि रूस 491 अंकों के साथ तीसरे नंबर पर रहा. रूस को प्रतियोगिता में जीत के लिए पहली पसंद माना जा रहा था.

ब्रिटेन का प्रतिनिधित्व करने वाले जोए एंड जेक को सिर्फ़ 62 अंक प्राप्त हुए और वे 24वें स्थान पर रहे.

उन्होंने अपना गीत 'यू आर नॉट अलोन' प्रस्तुत किया.

जमाला क्रीमिया के तातार समुदाय से आने वाली पहली महिला हैं जिन्होंने यूरोविज़न प्रतियोगिता में हिस्सा लिया है.

इमेज कॉपीरइट evn

उनके गीत को लेकर विवाद भी हुआ है क्योंकि इसमें राजनीतिक संदेश भी है.

तत्कालीन सोवियत संघ के नेता स्टेलिन ने क्रीमिया में रहने वाले समूचे तातार समदुाय को अपने घर छोड़ने पर मजबूर कर दिया था.

क्रीमिया उस समय सोवियत संघ का ही हिस्सा था. रूस ने 2014 में यूक्रेन के क्रीमिया पर कब्ज़ा कर लिया था.

जमाला की जीत को लेकर विवाद भी हुआ है. रूस की ओर से अंतिम फ़ैसले की समीक्षा की अपील भी की गई है.

इमेज कॉपीरइट AP

रूस की सांसद इलीना ड्रापेको ने रूस की हार को, 'सूचना युद्ध' क़रार देते हुए कहा कि ये उनके देश को 'शैतान की तरह दर्शाना है.'

यूरोविज़न प्रतियोगिता में रूस और यूक्रेन के जजों ने एक दूसरे के देश को कोई अंक नहीं दिया.

हालांकि ऑडिएंस में रूस के लोगों ने यूक्रेन को दस अंक दिए जबकि यूक्रेन के लोगों ने रूस को अधिकतम 12 अंक दिए.

(बीबीसी हिन्दी केएंड्रॉएड ऐपके लिए यहां क्लिक करें. फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)