'पनामा पेपर्स की जांच के लिए बने कमीशन'

नवाज़ शरीफ़ इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने देश के सांसदों से पनामा पेपर्स से जुड़े सभी आरोपों की जांच करने के लिए एक कमीशन बनाने के लिए कहा है.

इस मुद्दे पर बातचीत के लिए आयोजित किए गए एक ख़ास सत्र में शरीफ़ ने कहा कि उन्होंने अपनी दौलत ग़ैर-क़ानूनी तरीके से नहीं कमाई है और उनकी कमाई का एक भी पैसा पाकिस्तान से बाहर नहीं गया है.

लेकिन शरीफ़ की बातों से असंतुष्ट विरोधियों ने संसद से वाकआउट किया. विरोधियों का कहना था कि शरीफ़ ने उनसे पहले पूछे सवालों के जवाब नहीं दिए हैं.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption रविवार को पाकिस्तानी संसद में आयोजित एक ख़ास सत्र में पनामा पेपर्स पर नवाज़ शरीफ़ को टेलीविज़न पर सुन रहे हैं पाकिस्तान के एक नागरिक.

अप्रैल में शरीफ़ ने वादा किया था कि इल्ज़ाम सही साबित होने पर वो अपने पद से इस्तीफ़ा दे देंगे.

देश के नाम संदेश जारी करते हुए उन्होंने कहा था कि देश के चीफ़ जस्टिस से मामले में स्वतंत्र जांच करने के लिए कहेंगे.

पिछले महीने पनामा पेपर्स नाम से लीक हुए दस्तावेज़ों के सामने आने के बाद से नवाज़ शरीफ़ पर दवाब बना हुआ था.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption रविवार को विरोधी नेता इमरान ख़ान ने संसद के बाहर मीडिया को अपनी संपत्ति से जुड़े कागज़ात दिखाए.

इन दस्तावेज़ों के अनुसार कई नामी और ताकतवर लोगों के विदेशी कंपनियों में हिस्सेदारी होने की बात सामने आई थी जिनमें शरीफ़ के परिवार के सदस्य भी शामिल हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार