ब्रिटेन ईयू से अलग हुआ तो गंभीर ख़तरा: जी-7

इमेज कॉपीरइट

जापान में G7 की बैठक के बाद एक घोषणापत्र में कहा गया है कि ब्रिटेन अगर यूरोपियन यूनियन से अलग होता है तो ये वैश्विक विकास के लिए गंभीर खतरा हो सकता है.

ब्रिटेन में यूरोपियन यूनियन से अलग होने के मुद्दे पर 23 जून को जनमत संग्रह होना है.

जी-7 के नेताओं ने चेतावनी दी है कि यदि ब्रिटेन यूनियन से बाहर जाता है तो वैश्विक व्यापार, निवेश और नौकरियां ख़तरे में पड़ सकती हैं.

प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ब्रिटेन को 28 देशों की यूनियन में बने रहने के लिए अभियान चलाए हुए हैं. हाल के नतीजों में भी सामने आया है कि यूनियन में बने रहने का समर्थन करने वालों को बढ़त हासिल है.

बैठक में सात औद्योगिक देशों अमरीका, कनाडा, ब्रिटेन, इटली, जर्मनी, फ्रांस और जापान ने वैश्विक विकास को प्राथमिकता बताया है.

इमेज कॉपीरइट

जी-7 ने आर्थिक नीतियों को मजबूत करने, तेजी से रोजगार विकसित करने और मजबूत, टिकाऊ और संतुलित विकास हासिल करने का वादा किया है.

समूह ने प्रवासियों और शरणार्थियों की बढ़ती संख्या को एक वैश्विक चुनौती बताया और कहा कि इस संकट से निपटने के लिए अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं और देशों को धन मुहैया कराना चाहिए.

बयान में पूर्व और दक्षिण चीन के सागर की तरफ भी ध्यान दिलाया गया है कि जहां समुद्री विवादों के कारण पिछले कुछ सालों से तनाव बना हुआ है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)