इस साल हज पर नहीं जाएंगे ईरानी नागरिक

  • 29 मई 2016
ईरान इमेज कॉपीरइट AP

ईरान के संस्कृति मंत्री ने कहा है कि ईरान अपने नागरिकों को इस साल हज के लिए सऊदी अरब में मक्का नहीं भेजेगा.

पिछले साल लगभग 60 हज़ार ईरानी नागरिक हज के लिए गए थे.

संस्कृति मंत्री अली जन्नती ने इस मामले में रोड़े अटकाने के लिए सऊदी अरब को ज़िम्मेदार ठहराया है.

पिछले साल हज के दौरान शैतान पर पत्थर फेंकने की रस्म के दौरान भगदड़ मच गई थी. इसमें सैंकड़ों हजयात्रियों की मौत हो गई थी.

भगदड़ में मरने वाले हाजियों में सबसे ज़्यादा ईरान के लोग थे.

सऊदी अरब और ईरान के बीच सीरिया और यमन के युद्ध समेत कई मुद्दों पर रिश्ते तनावपूर्ण रहे हैं.

ईरान के सर्वोच्च धार्मिक नेता आयतुल्लाह ख़मेनेई ने तब भगदड़ के लिए सऊदी अरब से माफ़ी मांगने को कहा था.

इमेज कॉपीरइट AP

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार इससे पहले 1987 में अमरीका विरोधी और इसराइल विरोधी मार्च के दौरान सऊदी के सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड़ में 402 हजयात्री, जिनमें से अधिकांश ईरानी थे, मारे गए थे.

तब भी ईरान ने तीन साल तक हज पर पाबंदी लगाई थी.

पिछली हज दुर्घटना के आठ महीने बीतने के बाद भी सऊदी अरब ने अब तक किसी तरह रिपोर्ट तक प्रकाशित नहीं की है. इस भगदड 700 से अधिक हजयात्री मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार