अमरीका में मुस्लिमों का प्रवेश रोको: ट्रंप

  • 14 जून 2016
डोनल्ड ट्रम्प इमेज कॉपीरइट Reuters

ऑरलैंडो के नाइटक्लब में गोलीबारी के बाद अमरीका में राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीवार डोनल्ड ट्रम्प ने अमरीका में मुस्लिमों के प्रवेश पर अस्थाई रोक लगाने की बात दोहराई है.

न्यूहैम्पशायर में ट्रम्प ने कहा कि अमरीकी आप्रवासन प्रणाली बेकार है, इसी की वजह से ऑरलैंडो में गोलीबारी करने वाले हमलावर के परिवार को अफ़ग़ानिस्तान से अमरीका आने की इजाज़त मिली.

उन्होंने कहा कि अगर वो राष्ट्रपति बने तो इस समस्या को सुलझाएंगे.

मौजूदा प्रणाली की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि अमरीका में और संभावित हत्यारों को आने दिया जा रहा है.

ट्रम्प ने कहा, '' हम हज़ारों-हज़ार लोगों को अमरीका में आने की इजाज़त नहीं दे सकते, इनमें से कई लोग उसी बर्बर हत्यारे जैसी सोच रख सकते हैं.''

मुस्लिम समुदाय पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि ऑरलैंडो में हमला करने वाले बंदूकधारी के बारे में मुस्लिम समुदाय के लोगों को पता था, लेकिन उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी नहीं दी.

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन पर निशाना साधते हुए ट्रम्प ने कहा कि बच-बचके बयान देने से खुलकर इस पर बात करने या कोई कदम उठाने में अड़चन आती है.

वहीं राष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी की संभावित उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन ने वादा किया कि अगर वो राष्ट्रपति बन जाती हैं तो ऐसे 'अकेेेले हमला करने वालो' की पहचान करने और उन्हें रोकने को अपनी प्राथमिकता बनाएंगी. उन्होंने चेतावनी दी कि अमरीकी नेतृत्व वाले गठबंधन को सीरिया और इराक़ में चरमपंथी संगठन के ख़िलाफ़ सफलता मिली है ऐेसे में आईएस हमले तेज़ कर सकता है.

हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि युद्ध में इस्तेमाल होने वाले हथियारों की गलियों और सड़कों पर कोई जगह नहीं है.

उन्होंने चरमपंथियों के हाथ में असॉल्ट राइफ़लें आने से रोकने के उपाय करने की बात भी कही.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार