चमचा पसंद बॉस से निपटने के तरीक़े

ऑफ़िस इमेज कॉपीरइट Alamy

हर दफ़्तर में बॉस के कुछ ख़ास लोग होते हैं. इसका ख़ामियाज़ा वो लोग भुगतते हैं, जो बॉस के क़रीबी नहीं होते.

क्योंकि बॉस, हमेशा अपने चमचों को बढ़ावा देते हैं. ऐसे में जो लोग नज़दीकी नहीं हैं, उन्हें प्रमोशन में भेदभाव झेलना पड़ता है. उन्हें तनख़्वाह कम मिलती है. उन्हें मुश्किल काम मिलते हैं. तो, अगर आप बॉस के क़रीबी नहीं हैं तो फिर क्या करना चाहिए?

चलिए आपको बताते हैं कुछ फॉर्मूले, जिनसे आप चमचागीरी पसंद करने वाले बॉस से निपटने में इस्तेमाल कर सकते हैं.

सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि अक्सर लोग बॉस से तनातनी के शिकार हो जाते हैं. मगर, ये हालात हमेशा के लिए नहीं होते. वक़्त बदलता रहता है.

अगर, आपकी बॉस से नहीं पट रही है, तो आप ये कुछ काम करके अपना बेहतर वक़्त लौटा सकते हैं.

अच्छा काम कीजिए

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

सबसे पहले तो आप, अपना काम बेहतर करने की कोशिश कीजिए. जो काम बॉस का पसंदीदा हो, उस पर ध्यान लगाकर कीजिए.

अच्छे से अच्छे तरीक़े से वो काम निपटाइए. कंपनी ने आपके बॉस को कई ज़िम्मेदारियां दे रखी होंगी. उनमें से किसी काम में अगर आप बॉस की मदद कर सकते हैं तो आगे बढ़कर ये काम कीजिए.

ये उन्हें खुश कर देगा और आपके प्रति उनके रवैये में बदलाव लाएगा. बॉस को जो टारगेट मिला हो, उसे पूरा करने में आप आगे बढ़कर काम कीजिए. इससे उनकी सोच बदलेगी.

बॉस को ग्राहक मानिए

इमेज कॉपीरइट iStock

अमरीका के एंड्र्यू विटमैन कहते हैं कि आप बॉस को बॉस के बजाय अपना ग्राहक समझकर काम करेंगे तो आपकी राह आसान हो जाएगी.

इससे सारी ताक़त आपके पास होगी. आप फ़ैसले करने की हालत में होंगे. आपको समझना होगा कि आप कंपनी के लिए काम कर हे हैं.

और कंपनी के लिए काम करते वक़्त अपने ग्राहक को ख़ुश रखना आपकी ज़िम्मेदारी है. अगर आप बॉस को ग्राहक समझेंगे तो उन्हें हमेशा ख़ुश करने की कोशिश करेंगे.

आप ये बात ख़ुद पर हावी मत होने दीजिए कि आप बॉस के ख़ास नहीं. बल्कि कैसे क़रीब जा सकते हैं, उस पर ध्यान लगाकर काम कीजिए.

बॉस के नज़दीकी से दोस्ती बढ़ाइए

आपके दफ़्तर में जो लोग आपके बॉस के क़रीबी हैं, आप उनसे मेल-जोल बढ़ाइए. यही लोग दूसरों के बारे में बॉस के कान भरते हैं. जब आपका उनके साथ रिश्ता अच्छा होगा तो वो आपके बारे में बॉस से अच्छी बातें कहेंगे.

इससे भी आपके प्रति राय बदलेगी. साथ ही टीम के मातहतों को हमेशा अपने साथ जोड़ने की कोशिश कीजिए.

जब टीम के तमाम सदस्य आपके साथ काम करना पसंद करेंगे. तो आपकी इमेज टीम में बेहतर होगी.

बॉस की खुलेआम बुराई न करें

इमेज कॉपीरइट Thinkstock

आप बॉस को पसंद करते हों या न करते हों, दफ़्तर में उनकी खुलकर बुराई करने से हमेशा बचें. कुछ लोग होंगे जो उनके ख़ास होंगे. उन तक हर बात पहुंचाते होंगे.

अगर आप खुलेआम बॉस की बुराई करेंगे तो चमचे उसे बढ़ा-चढ़ाकर पेश करेंगे. इससे आपके और बॉस के रिश्ते और बिगड़ने का डर है.

साथ ही आपकी बार-बार की बुराई से टीम के दूसरे सदस्य भी आपके बारे में ग़लत राय क़ायम कर सकते हैं.

इसके बजाय आप अच्छा काम करने वालों की तारीफ़ कीजिए. लोगों के साथ मेल-जोल बढ़ाकर टीम भावना पर ज़ोर दीजिए. इससे आपकी इमेज ख़ुद ही बेहतर होगी.

अपने विकल्प हमेशा खुले रखें

आज ऐसा दौर है कि अक्सर आपको नए बॉस के साथ काम करना पड़ता है. कोई भी बॉस स्थायी नहीं होता. आज नौकरी भी लोग ख़ूब बदलते हैं.

तो अगर आप बॉस के ख़ास नहीं भी हैं तो ये हालात हमेशा नहीं रहने वाले.

आप शायद उस शख़्स के साथ काम नहीं करना चाहेंगे, जो चमचागीरी पसंद करता है. भले ही आप उसके क़रीबी क्यों न हों.

कभी भी ऐसे हालात बनें तो आप निराश न हों. पेशेवर तरीक़े से हालात से निपटने की कोशिश करें. अपने काम को बेहतर ढंग से निपटाएं.

टीम के दूसरे सदस्यों के साथ मेल-जोल और तालमेल बढ़ाएं.

साथ ही अपने लिए दूसरे विकल्प भी तलाशते रहें. जहां आपके लिए बेहतर मौक़े हों, आपका बॉस एक अच्छा इंसान हो. ताकि आपकी तरक़्क़ी न रुके.

(अंग्रेजी में मूल लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें, जो बीबीसी कैपिटल पर उपलब्ध है.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार