बहरीन के प्रमुख शिया मौलवी की नागरिकता रद्द

  • 20 जून 2016
इमेज कॉपीरइट AFP

खाड़ी देश बहरीन के सबसे महत्वपूर्ण शिया मौलवी से उनकी नागरिकता छीन ली गई है.

उल्लेखनीय है कि बहरीन सुन्नी बहुल देश है.

गृह मंत्रालय ने बयान जारी करते हुए शेख ईसा कासिम पर 'विदेशी हितों को साधने' और 'सांप्रदायिकता और हिंसा को बढ़ावा देने' के लिए अपने पद के इस्तेमाल का आरोप लगाया.

ईसा कासिम को अयातुल्ला का धार्मिक दर्जा प्राप्त है.

उन्होंने नागरिक और राजनीतिक अधिकारों के लिए शिया समुदाय के विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया है.

पिछले हफ्ते सरकार ने प्रमुख शिया विपक्षी समूह पर भी रोक लगा दी थी.

बहरीन अधिकारियों के अनुसार वफ़क़ नेशनल इस्लामिक सोसायटी को भी बंद कर दिया गया है और इसकी संपत्ति जब्त कर ली गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

वफ़क़ के राजनीतिक नेता, शिया मौलवी शेख़ अली सलमान जेल में हैं और हाल ही में उनकी सजा बढ़ाकर नौ साल कर दी गई है. उन्हें 2015 में घृणा फैलाने और अवज्ञा, तथा सरकारी संस्थानों का अपमान करने का दोषी पाया गया था.

विकिलीक्स की ओर से प्रकाशित किए गए अमरीकी डिप्लोमेटिक केबल में शेख ईसा क़ासिम को वफ़क़ का अध्यात्मिक नेता बताया गया है.

उन्हें बहरीन के व्यापक शिया समुदाय का भी अध्यात्मिक नेता माना जाता है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार