काबुल धमाके में दो भारतीय भी मरे

  • 20 जून 2016
वह बस, जो क़ाबुल में आत्मघाती धमाके का निशाना बनी. इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट कर जानकारी दी कि अफ़गानिस्तान की राज़धानी काबुल में हुए धमाके में मरने वालों में दो भारतीय भी हैं.

स्वरूप ने विदेश मंत्रालय के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, "हमें पता चला है कि भारत के दो नागरिक, देहरादून के गणेश थापा और गोविंद सिंह की काबुल में हुए धमाके में दुखद मौत हो गई है."

इमेज कॉपीरइट EPA

अफ़गानिस्तान में सोमवार को हुए दो अलग-अलग धमाकों में 24 लोगों की मौत हो गई है.

राज़धानी काबुल में सुबह एक मिनी बस को निशाना बनाकर किए गए आत्मघाती बम धमाके में कम से कम 14 लोगों के मारे जाने की ख़बर है. ये सभी 14 लोग सेक्योरिटी गार्ड्स के तौर पर काम करते थे.

इसके कुछ ही घंटो बाद बदअख़्शान प्रांत के केशम ज़िले में एक मुख्य बाज़ार में हुए धमाके में 10 लोग मारे गए.

इमेज कॉपीरइट AFP

मारे गए सभी 10 लोग आम नागरिक थे.

तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों ने ही इन धमाकों की ज़िम्मेदारी ली है लेकिन अब तक उनके दावों की पुष्टि नहीं हो पाई है.

पिछले महीने भी काबुल के पास एक बस पर आत्मघाती हमला हुआ था और जून में गजनी की एक अदालत पर हमला किया गया था.

इन हमलों की जिम्मेदारी तालिबान ने ली थी. उसका कहना है कि छह क़ैदियों की फांसी के विरोध में यह हमला किया गया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार