'जैसे वो चीखा, मैं समझ गई यही पति बनने लायक है'

  • 21 जून 2016
इमेज कॉपीरइट Twitterfarwzaz

महिलाएं अजनबियों की सैक्सिस्ट टिप्पणियों, भद्दे, अश्लील इशारों, सीटियों और सड़क पर होने वाले अन्य तरह के अनुभवों पर एक नए अंदाज़ में एतराज़ जता रही हैं.

औरतें #NoWomanEver हैशटैग के ज़रिए सोशल मीडिया पर अपने इन अनुभवों को बयान कर रही हैं और ऐसे लोगों पर तंज कस रही हैं.

ये हैशटैग पूरी तरह से नया नहीं है. अमरीकी सोशल मीडिया यूज़र - मिस ब्लैक एवेयरनेस ने इसे दोबारा से इस्तेमाल किया है और कुछ दिनों में ही ये एक लाख 40 हजार बार से अधिक इस्तेमाल हुआ है.

इस हैशटैग में उन्होंने व्यंगात्मक लहजे में उन पुरुषों की टिप्पणियों और इशारों का जवाब दिया है जो इस तरह की छेड़खानी करने के आदी हो गए हैं.

इमेज कॉपीरइट TwitterImJustCeej

मिस ब्लैक एवेयरनेस ने ट्वीट किया- "तुम 100 साल के हो गए और अब भी नहीं जान पाए कि किसी महिला को डराए बिना, सम्मानजनक और सही तरीके से उससे कैसे बात की जाए."

जल्द ही हैशटैग नो वुमन एवर का इस्तेमाल कर रहे अन्य लोगों ने भी इसी तर्ज़ अपने अनुभव बयान करने शुरू कर दिए.

इमेज कॉपीरइट TWITTER

लोलिटा जैकसन ने ट्वीट किया- "रात में उसने पार्किंग लॉट में मुझे मेरी कार में जाने से रोका और मेरा नंबर मांगा...बस मैं समझ गई (मेरे लिए) यही वो पुरुष है."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

एलिजाबेथ प्लैंक ने लिखा- "मैं जान गई कि वही पति बनाने लायक व्यक्ति है जब उसने कार का शीशा नीचे किया और तेज आवाज में मुझ पर चीखा."

इमेज कॉपीरइट TWITTER

रेबेका ने ट्वीट किया- "पैदल घर जाते समय जब कार से पुरुष चिल्लाते हैं तो मैं हमेशा सुरक्षित महसूस करती हूं, ये जानकार अच्छा लगता है कि ऐसे पुरुष हैं जो केयर करते हैं."

एक अन्य यूज़र ने ट्वीट किया, "जवाब न देने पर जब उसने मेरे कान से इयरप्लग खींचा तो मेरा दिल पिघल गया."

इस हैशटैग पर तो औरतों के साथ सड़कों पर होने वाले बर्ताव से जुड़ी पोस्ट्स की जैसे बरसात हो रही है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार