आलोचना के बीच शुरू हुआ डॉग मीट फ़ेस्टिवल

  • 22 जून 2016
डॉग मीट फ़ेस्टिवल इमेज कॉपीरइट EPA

दक्षिणी चीन के यूलिन शहर में 10 दिनों का सालाना डॉग मीट फ़ेस्टिवल शुरू हो गया है.

चीन में और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इसका काफ़ी विरोध हो रहा है.

आरोप लगाए जा रहे हैं कि इस फ़ेस्टिवल में कुत्तों और बिल्लियों को बेहद क्रूर तरीक़े से मारकर खाया जाता है.

इस फ़ेस्टिवल को बंद करने के लिए शुरू की गई एक याचिका पर एक करोड़ 10 लाख दस्तख़त कर चुके हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption डॉग मीट फ़ेस्टिवल का विरोध प्रदर्शन

स्थानीय प्रशासन का कहना है कि इस फ़ेस्टिवल का सरकार से कोई लेना देना नहीं है और निजी व्यापारियों के सहयोग से इसका आयोजन किया जाता है.

यूलिन डॉग मीट फ़ेस्टिवल में लोग जमा होकर डॉग मीट, स्थानीय बीयर और लीची के पकवानों का मज़ा लेते हैं.

चीन और दक्षिण कोरिया में कुत्ते का मांस खाने का चलन पांच सौ साल पुराना है लेकिन यूलिन डॉग फ़ेस्टिवल की शुरुआत हाल के कुछ सालों में ही हुई है.

फ़ेस्टिवल के आयोजनकर्ताओं का कहना है कि जानवरों को बिना कोई क्रूरता के सामान्य तरीक़े से मारा जाता है.

इमेज कॉपीरइट EPA

लेकिन इस आयोजन का विरोध करने वालों का कहना है कि जानवरों को बड़ी निर्दयता से मारा जाता है.

आलोचकों के मुताबिक़ कुत्तों को पीट-पीटकर मार दिया जाता है और कभी-कभी ज़िंदा पका दिया जाता है.

डॉग मीट फ़ेस्टिवल का विरोध करने वालों का ये भी कहना है कि इस आयोजन के लिए कुत्तों को बहुत अमानवीय तरीक़े से गाड़ियों में भरकर लाया जाता है और कई कई दिन तक खाने-पीने को कुछ नहीं दिया जाता.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार