ब्रिटेन की महारानी के बैग का राज़

  • 24 जून 2016
महरानी एलिज़ाबेथ इमेज कॉपीरइट Reuters

अक्सर आम जनता, बड़े लोगों की नक़ल करती है. ख़ास तौर से फ़ैशन के मामले में. सेलेब्रिटी, राजा-महाराजा, जागीरदार, रईस कारोबारी क्या पहनते हैं, इस पर सबकी नज़र होती है.

अब जैसे ब्रिटेन का शाही परिवार. उनके पहनावे की, उनके रहन-सहन की, पूरी दुनिया में चर्चा होती है. अभी हाल ही में महारानी एलिज़ाबेथ ने अपनी 90वीं सालगिरह मनाई. इसी साल उन्होंने ब्रिटेन पर सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी का दर्जा भी हासिल कर लिया.

एक बार फिर उनके फ़ैशन की चर्चा छिड़ी हुई है. इस मौक़े पर शाही डिज़ाइनर सर नॉर्मन हार्टनेल की बरसों पहले कही बात याद आती है. उन्होंने कहा था, "महारानी और उनकी मां फ़ैशन का नया चलन चलाने के लिए नहीं हैं. ये सब काम उनके लिए हैं जिनके पास ग़ैर-ज़रूरी कामों के लिए वक़्त है."

मतलब ये कि महारानी फ़ैशन से परे हैं. एलिज़ाबेथ का ख़ास स्टाइल, उनकी ताजपोशी के वक़्त से ही शुरू हुआ था. वो आज भी उसी तरह से चलन में है.

इमेज कॉपीरइट Getty

उन्होंने पहनावे में नए तजुर्बे करने से हमेशा इनकार किया. उन्होंने सत्तर के दशक में ना प्रिंट वाले कपड़ों के चलन में ख़ुद को शामिल किया. और ना ही अस्सी के दशक में आए फ्रिल के चलन को आज़माया.

पिछले सात दशकों में महारानी एलिज़ाबेथ का स्टाइल एक जैसा ही रहा है. इससे उन्होंने अपने रौब, अपने शऊर और अपनी कूटनीति का मुजाहिरा किया है. और जब भी बड़े समारोहों या मौक़ों पर ज़रूरत हुई है. उन्होंने अपना शाही अंदाज़ भी दिखाया है.

मशहूर अंग्रेज़ डिज़ाइनर लुएला बार्टले ने ब्रिटेन के रईसों के फ़ैशन के बारे में लिखा है. वो कहती हैं, "कुछ भी नया नहीं दिखना चाहिए. वरना उचक्कापन झलकेगा. अगर आप पहनावे में ज़रूरत से ज़्यादा कोशिश करते नज़र आएंगे, तो आपकी ये कोशिश पकड़ी जाएगी. ऊंचे दर्जे के अंग्रेज़ हमेशा परंपरा के पालन में यक़ीन रखते हैं."

इमेज कॉपीरइट Getty

महारानी एलिज़ाबेथ का पहनावा, इसी की मिसाल है. वो अक्सर मौक़े की नज़ाकत के हिसाब से अपनी पोशाक चुनती हैं. जैसे अभी उनकी 90वीं सालगिरह पर अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा उनके एस्टेट में मेहमान बनकर आए थे.

इस मौक़े पर महारानी और उनके पति ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग ने परंपरागत पोशाक पहनी. जो ग्रामीण इलाक़ों की औरतें पहनती हैं. नीले रंग की स्कर्ट थी. सिर पर स्कार्फ़ था. इसने बरसों पहले महारानी के पहने कपड़ों की याद दिला दी.

चालीस के दशक में राजकुमारी एलिज़ाबेथ और उनकी बहन माग्ररेट घोड़ों की एक रेस के दौरान ऐसी ही पोशाक में नज़र आई थीं. बाद में उनके इस लुक को हॉलीवुड अभिनेत्री ऑड्रे हेपबर्न और अमरीकी राष्ट्रपति जॉन कैनेडी की पत्नी जैकी ने भी आज़माया था. हाल के दिनों में मशहूर डिज़ाइनर डोल्चे एंड गबाना ने भी महारानी के उस पहनावे की नक़ल की.

इमेज कॉपीरइट Getty

महारानी एलिज़ाबेथ जब छुट्टियां बिताने स्कॉटलैंड की अपनी एस्टेट, बालमोरल कैसल जाती हैं, तो वो और भी सादा कपड़ों में नज़र आती हैं. आम तौर पर वो ट्वीड का जैकेट या बुने हुए कपड़ों का जोड़ा पहने दिखाई देती हैं. और इस मौक़े पर वो ख़ास बालमोरल स्कर्ट पहनना नहीं भूलतीं. ये शाही ड्रेस बरसों पहले महारानी की परदादी, क्वीन विक्टोरिया ने ख़ुद तैयार की थी. वैसे भी बड़े लोगों की दुनिया में कुछ नया पहनना भद्दा माना जाता है.

ब्रिटेन के शाही परिवार के पहनावे पर नज़र रखने वाली कैरोलीन डे गिटाट कहती हैं, ''महारानी हमेशा सही पहनावा चुनती हैं. वो सदाबहार होता है. उससे उनकी सुरुचि झलकती है.''

बीसवीं सदी की युवा एलिज़ाबेथ हों या आज 90 बरस की महारानी, वो हमेशा एक सी,शानदार दिखती रही हैं.

महारानी एलिज़ाबेथ, ऐसी महिला हैं जिनकी दुनिया में सबसे ज़्यादा तस्वीरें खींची गई हैं. हमेशा से ही उनके पहनावे की मीडिया में चर्चा होती रही है. फिर 1953 में ताजपोशी के वक़्त पहनी गई उनकी ड्रेस हो या फिर, राजकुमारी डायना के अंतिम संस्कार के वक़्त का पहनावा.

इमेज कॉपीरइट Getty

जब 1953 में महारानी ने गद्दी संभाली थी, उनकी उम्र महज़ 25 बरस थी. उन्होंने सर हार्टनेल की डिज़ाइन की हुई ड्रेस पहनी थी. जिसमें ब्रिटिश राजपरिवार की झलक तो थी ही, उस वक़्त के ब्रिटेन के उपनिवेशों से भी कई चीज़ें लेकर उन्हें उनकी ड्रेस में शामिल किया गया था.

इसी तरह, जब-जब महारानी विदेश दौरे पर गई हैं, उनकी पोशाक ने उस ख़ास मौक़े के हिसाब से संदेश देने की कोशिश की है. जैसे कि वो 1957 में जब नोवा स्कोशिया गईं तो वहां के राजकीय फूल के प्रिंट उनकी पोशाक पर थे.1983 में उनके अमरीका दौरे में कैलिफोर्निया के खसखस के फूलों की झलक उनकी ड्रेस में दिखी थी.

महारानी एलिज़ाबेथ, सात बार वेटिकन जाकर पोप से मिली हैं. हर बार उन्होंने परंपरा के हिसाब से सिर से पांव तक ढकी हुई काली पोशाक पहनी है.

इमेज कॉपीरइट Getty

इन दिनों शाही परिवार के कपड़े डिज़ाइनर एंजेला केली तैयार करती हैं. इसमें महारानी से सलाह मशविरा करके ही बदलाव किए जाते हैं. फिर वो ड्रेस हो या फिर ख़ास मौक़ों पर पहनी जाने वाली हैट.

महारानी के पहनावे के कुछ नियम ऐसे हैं जिनका हमेशा पालन किया जाता है. जैसे उनकी सैंडल्स की हील दो इंच से ज़्यादा नहीं होगी. उनकी स्कर्ट, घुटनों से नीचे तक की होगी. स्कर्ट के फ्रिल इतने भारी होंगे कि हवा के तेज़ झोंके से उड़ न जाएं. उनके सिर पर या तो हैट होगी या फिर स्कार्फ या मुकुट. हैट का रंग हमेशा भड़कीला होगा.

महारानी की पोशाक हमेशा उनके रौब की नुमाइश करने वाली होती है. इसीलिए बहुत सी ताक़तवर महिलाओं जैसे मार्गरेट थैचर या एंजेला मर्केल या हिलेरी क्लिंटन ने उनकी नक़ल की है.

इमेज कॉपीरइट Getty

महारानी के पहनावे का सबसे अहम पहलू है उनका हैंडबैग. महारानी के लिए बैग, ब्रिटिश कंपनी लॉनर तैयार करती है. कहते हैं कि उनके पास इस कंपनी के 200 से ज़्यादा हैंडबैग हैं. उनके बैग में क्या होता है, ये हमेशा से चर्चा का विषय रहा है. वैसे रविवार के दिन उनके बैग में पांच पाउंड का नोट हमेशा रहता है, चर्च में देने के लिए. अपने पोते-पोतियों से बात करने के लिए उनके हैंड बैग में एक मोबाइल फ़ोन भी होता है.

महारानी, बैग कहां रखती हैं, इसमें भी एक संदेश छुपा होता है. जब महारानी डिनर टेबल पर अपना हैंडबैग रखती हैं, तो इसका मतलब ये होता है कि अब वो इस काम को ख़त्म करना चाहती हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty

उनके हैंडबैग से खिलवाड़ करते उनके पोते-पोतियों की तस्वीरें शायद उसके जादुई असर को बयां करती है.

मौक़े के हिसाब से महारानी कई बार शाही लिबास में भी नज़र आई हैं. उनके लंबे गाउन, चमचमाते गहने और सिर पर मुकुट, शहाना अंदाज़ पेश करते रहे हैं.

कुल मिलाकर, महारानी एलिज़ाबेथ, अपनी पोशाक, अपने पहनावे से जादू जगाती आई हैं. वो जादू नब्बे की उम्र में भी बरक़रार है.

(अंग्रेज़ी में मूल लेख यहां पढ़ें, जो बीबीसी कल्चर पर उपलब्ध है.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिएआप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार