'पढ़े-लिखे और संपन्न परिवारों से थे हमलावर'

  • 3 जुलाई 2016
म इमेज कॉपीरइट AP

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में शुक्रवार को एक कैफ़े पर हुए चरमपंथी हमले के मामले में तफ़्तीश जारी है.

अधिकारी अब सोशल मीडिया के ज़रिए हमलावरों की जानकारी जुटाने की कोशिश कर रहे हैं जिन्होंने इस ख़ौफनाक़ हमले को अंजाम दिया.

ख़बरों के मुताबिक शुक्रवार को कैफ़े में 20 लोगों की हत्या करने वाले तीन बंदूकधारियों की पहचान फ़ेसबुक के माध्यम से ही हुई है.

पढ़ें आईएस के नहीं, स्थानीय थे चरमपंथी

पढ़ें ढाका हमले में कितने लोग मारे गए?

पढ़ें ढाका: सुरक्षित इलाक़े में आईएस के हमले से खुली पोल

पढ़ें ढाका के कैफ़े पर हमला

सरकार का कहना है कि चरमपंथी हमले को अंजाम देने वाले लोग पढ़े लिखे और संपन्न परिवारों से संबंध रखते थे. गृह मंत्री असदुज़्ज़मान ख़ान ने कहा है कि सभी हमलावर बांग्लादेशी नागरिक थे और उन्होंने स्थानीय गुटों से निर्देश लिए.

इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी ली है. लेकिन बांग्लादेश सरकार का कहना है कि इसके पीछे 'जमीअतुल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश' का हाथ है.

पढ़े बांंग्लादेश के 'पहले आतंकवादी हमले' के 'संदेश'

पढ़ें बांग्लादेश: मृतकों में एक भारतीय लड़की भी

पढ़ें 'ढाका: सुरक्षित क्षेत्र पर आईएस के हमले से खुली पोली'

अधिकारियों के मुताबिक सभी हमलावर बांग्लादेशी थे. बांग्लादेश में दो दिनों का राष्ट्रीय शोक है.

इमेज कॉपीरइट

छह हमलावरों की मौत हो गई थी और एक हमलावर को गिरफ़्तार कर लिया गया था. उससे पूछताछ चल रही है.

कहा जा रहा है कि सभी हमलावर अच्छे घरों से संबंध रखते थे और सभी ने निजी स्कूलों और यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की थी.

ख़ास बात है कि इनमें से किसी ने भी मदरसे से पढ़ाई नहीं की थी. माना जाता है कि कई इस्लामिक चरमपंथी संगठन अपने सदस्यों की भर्ती इन्हीं मदरसों से करते हैं.

सोशल मीडिया में कथित तौर पर इस्लामिक स्टेट की लगाई कुछ तस्वीरों को देखकर कुछ लोगों ने हमलावरों की पहचान अपने सहपाठी के तौर पर की थी.

अब पुलिस के कई चेक पोस्ट अलग-अलग जगहों पर लगे हैं लेकिन बांग्लादेशियों का मानना है कि ये इंतज़ाम बहुत देर से हो रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार