मुस्लिम डेटिंग वेबसाइट हैक, 'पॉलीगेमी' की चर्चा

  • 5 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट MUSLIMMATCH.COM

जीवनसाथी तलाशने वालों की डेटिंग वेबसाइट 'मुस्लिम मैच' से 150,000 से भी अधिक सदस्यों की व्यक्तिगत जानकारियां चुरा कर ऑनलाइन पोस्ट कर दी गई हैं.

जिन सदस्यों की जानकारियां लीक हुई हैं उनमें ब्रिटेन, अमरीका और पाकिस्तान के यूज़र्स सबसे ज़्यादा हैं.

वेबसाइट को अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया है. कंपनी का कहना है कि यह अगले हफ्ते ख़त्म होने वाले रमज़ान तक वेबसाइट काम नहीं करेगा.

मुस्लिम मैच फेसबुक पन्ने पर लिखता है, "अकेले, तलाकशुदा, विधवा, शादीशुदा और मुसलमान अपनी सोच और आइडिया बांटें और शादी के लिए एक अच्छा साथी पाएं."

हैकरों ने वेबसाइट के सदस्यों की कई संवेदनशील जानकारियां भी सार्वजनिक कर दी हैं. जैसे कि एक सदस्य दूसरे से पॉलीगेमी (बहुविवाह प्रथा) पर विचार करने की बात कर रहा है.

एक लीक हुए मैसेज में लिखा है, "मैं तुमसे शादी करना चाहता हूं. यदि तुम्हें पसंद हो तो मैं अपनी तस्वीरें और दूसरी जानकारियां भेजता हूं."

दूसरे मैसेज में कहा गया है, "तुम्हें मुझसे बात करके अच्छा लगेगा. मैं सच्चा और भरोसेमंद इंसान हूं. गंभीरता से ऐसी लड़की की तलाश कर रहा हूं जो जीवन के सफ़र में और आगे भी मेरी साथी, हमसफर बन सके."

होमपेज पर लिखा है, "वेबसाइट की सुरक्षा में की गई कथित सेंधमारी का पता चला है. हम अपने सिस्टम की जांच कर रहे हैं. इस स्थिति से निपटने और अपनी सुरक्षा व्यवस्था को और चौकस बनाने के उपायों पर काम जारी है."

हैकिंग के बारे में सबसे पहले सेक्यूरिटी रिसर्चर ट्रॉय हंट ने पता लगाया. वे साइबर सेक्यूरिटी अलर्ट वेबसाइट चलाते हैं.

तकनीकी ख़बरों से जुड़ी साइट मदरबोर्ड के अनुसार चुराई गई जानकारियों में, सदस्यों को नौकरी देने वाले, लोकेशन, वैवाहिक स्थिति और क्या उन्होंने धर्म बदलकर इस्लाम अपनाया है जैसी बातें शामिल है. इसके साथ ही सदस्यों के नाम, ईमेल ऐड्रेस, स्काइप हैंडल और आईपी ऐड्रेस भी सार्वजनिक कर दिए गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार