ईद पर सीरिया में 72 घंटों का संघर्ष-विराम

  • 7 जुलाई 2016
ईद पर सीरियाई महिलाएं इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ईद-उल-फित्र के पहले दिन डर्रा में सीरियाई महिलाएं अपने मृत परिजनों को याद कर रही हैं.

सीरिया की सरकारी मीडिया के मुताबिक़, सीरियाई सेना से पूरे देश में 72 घंटों का एकतरफा युद्ध विराम लागू किया है.

यह 'शांति का समय' बुधवार को 01.00 बजे (10.00 जीएमटी, मंगलवार) से शुक्रवार की मध्यरात्रि तक लागू रहेगा.

कई विद्रोही गुटों का कहना है कि ईद-उल-फितर के दौरान लागू किए गए इस युद्ध विराम का वह सम्मान करेंगे.

इससे पहले, राष्ट्रपति बशर-अल-असद राजधानी दमिश्क में लड़ाई से बर्बाद हुए होम्स शहर में सार्वजनिक तौर पर ईद की नमाज़ पढ़ते नज़र आए.

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption होम्स शहर की एक मस्जिद में राष्ट्रपति बशर-अस-असद ने ईद की नमाज़ पढ़ी.

होम्स के अधिकांश हिस्सों पर पहले विद्रोही लड़ाकों का कब्ज़ा था, लेकिन पिछले दो सालों से उन्हें शहर के एक इलाके तक ही सीमित कर दिया गया है.

इस बात के कोई संकेत नहीं मिले हैं कि सीरियाई सेना ने रमाज़ान के अंत में और ईद-उल-फितर पर लागू इस युद्ध विराम के बारे में अपने विरोधियों से कोई बात की है.

लेकिन पश्चिमी देशों से समर्थन प्राप्त फ्री सीरिया आर्मी और सहयोगी विद्रोही गुटों का कहना है कि वह इस युद्ध विराम को तब तक मानेंगे "जब तक दूसरा पक्ष ऐसा करता है".

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ईद-उल-फितर पर बच्चे अपने खिलौनों के साथ खेलते हुए

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने इस अस्थायी संघर्ष विराम का स्वागत किया है. उन्होंने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि यह 72 घंटे शायद आने वाली उम्मीदों का संकेत हों.

लगभग पांच साल पहले सीरिया में असद के ख़़िलाफ़ उठे विद्रोह के बाद से अब तक वहां 250,000 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके है, और 1.1 करोड़ लोगों को अपना घर छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार