ओबामा: बंटा हुआ नहीं है अमरीकी समाज

  • 10 जुलाई 2016
बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अमरीका विभाजित नहीं है जैसा कि अफ़्रीकी-अमरीकियों पर हुई गोलीबारी के बाद कुछ लोग कह रहे हैं.

गुरुवार को एक विरोध प्रदर्शन के दौरान एक काले युवक की गोलीबारी में पांच गोरे पुलिसकर्मी मारे गए थे.

ये प्रदर्शन पुलिस की गोलीबारी में काले लोगों की मौत के विरोध में आयोजित किया गया था.

इस सप्ताह पुलिस की गोलीबारी में दो काले लोगों की मौत के बाद राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption डैलस में लोग मारे गए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं.

राष्ट्रपति ओबामा का कहना है कि ये कहना सही नहीं है कि अमरीका 60 के दशक में लौट रहा है.

अमरीकी राष्ट्रपति ने ये टिप्पणी वारसॉ में नेटो के सम्मेलन के दौरान की है.

इससे पहले उपराष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा था कि नाइंसाफ़ी के ख़िलाफ़ खड़े होना अमरीकियों का कर्तव्य है, लेकिन लोगों को पुलिस का भी समर्थन करना चाहिए.

पुलिस के मुताबिक डैलस में पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाले मिकाह जॉनसन काले चरमपंथी समूहों का समर्थन करते थे और पुलिस के ख़िलाफ़ हिंसा को बढ़ावा देते थे.

डैलस में पुलिस कार्रवाई में जॉनसन की मौत भी हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट facebook
Image caption डैलस में पुलिस पर हमला करने वाले माइका जॉनसन का कहना था कि वो गोरे पुलिसकर्मियों को मारना चाहते थे.

राष्ट्रपति ओबामा ने कहा कि डैलस में हुई हत्याओं के बाद सभी अमरीकी ग़ुस्से में हैं.

उन्होंने कहा कि हमले के बाद प्रदर्शित की गई एकता वो मज़बूत बुनियाद है जिस पर इमारत खड़ी की जानी चाहिए.

बराक ओबामा ने बंदूकों पर नियंत्रण की अपनी मांग को फिर से दोहराते हुए कहा कि जो भी पुलिसकर्मियों की सुरक्षा के बारे में सोचता है उसे इस मुद्दे का समाधान भी करना चाहिए.

डैलस में हुए हमले में पाँच पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी जबकि सात गंभीर रूप से घायल हैं.

इस हमले में दो नागरिक भी घायल हुए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार