किसी को ऐसे जान नहीं गंवानी चाहिए: सेरेना

  • 10 जुलाई 2016
सेरेना विलियम्स इमेज कॉपीरइट Getty

सातवीं बार विंबलडन महिला सिंगल्स का ख़िताब जीतने वाली अमरीकी टेनिस खिलाड़ी सेरेना विलियम्स दुखी हैं.

वो अपने देश में अफ्रीकी-अमरीकियों की हत्या और फिर डलास में हुई हिंसा से परेशान हैं.

विंबलडन का ख़िताब जीतने के बाद उन्होंने कहा, "अपने जैसे रंग के लोगों की सुरक्षा को लेकर मैं चिंतित हूं. मेरे भतीजे हैं, मैं सोच रही हूं कि उन्हें फोन कंरू और कहूं कि बाहर मत जाओ. ऐसा न हो कि जब तुम कार में बैठने जाओ, तो वो अंतिम बार हो जब मैं तुम्हें देख रही हूं."

उन्होंने कहा, "ये बेहद चिंताजनक है. वो काफी अच्छे बच्चे हैं. काले युवाओं और अन्य काले लोगों को गोली मार देना कोई जवाब नहीं है. हिंसा से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता है."

सेरेना ने कहा, ''डलास की गोलीबारी दुखद है. इस तरह से किसी को भी अपनी ज़िंदगी नहीं गंवानी चाहिए, चाहें वो किसी भी रंग के हों और कहीं के भी रहने वाले हों. हम सभी इंसान हैं. हमें ये सीखना होगा. हमें एक दूसरे को प्यार करना होगा. इसके लिए शिक्षा में काफी सुधार करने और इस दिशा में काफी काम किए जाने की जरूरत है."

इमेज कॉपीरइट AP

उन्होंने कहा कि पूरी स्थिति बहुत दुखदायक है और जो हो रहा है, उसे देखना बेहद दर्दनाक है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार