'ब्रिटेन अपने लिए साहसी भूमिक गढ़ेगा'

  • 13 जुलाई 2016
टेरीज़ा मे इमेज कॉपीरइट AP

ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने कहा कि यूरोपीय संघ से बाहर होने के फ़ैसले के बाद ब्रिटेन दुनिया में अपने लिए एक बड़ी साहसी भूमिका गढ़ेगा.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सिर्फ कुछ विशेष लोगों के लिए नहीं बल्कि सभी लोगों के लिए काम करेगी.

अपनी पार्टी का पूरा नाम लेते हुए उन्होंने कहा कि कंज़रवेटिव एंड यूनिअनिस्ट पार्टी की होने के नाते वो यूनाइटेड किंगडम के सभी भागों को साथ लेकर चलेंगी.

टेरीज़ा मे ने वर्ग और युवाओं के साथ होने वाले भेदभाव, नस्ल भेद और लिंग भेद से लड़ने का वादा भी किया.

उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद कैबिनेट मंत्रियों का चुनाव किया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

यूरोपीय संघ से बाहर होने के पक्ष में प्रचार में अहम भूमिका निभाने वाले बॉरिस जॉनसन को विदेश मंत्री बनाया है.

फ़िलिप हैमंड पहले ब्रिटेन के विदेश मंत्री थे उन्हें वित्त मंत्री बनाया गया है.

पढ़ें- कौन हैं टेरीज़ा में? भारतीयों से जुड़े उनके कुछ फ़ैसले जानें

वहीं ब्रेक्सिट के पक्ष में प्रचार करने वाले डेविड डेविस को ब्रेक्सिट मंत्री बनाया गया है.

इमेज कॉपीरइट PA

ऊर्जा मंत्री एंबर रड्ड को गृह मंत्री बनाया गया है.

इससे पहले डेविड कैमरन ने महारानी को अपना इस्तीफा सौंपा.

प्रधानमंत्री पद छोड़ने से पहले कैमरन ने कहा कि उन्होंने देश को उससे कहीं ज़्यादा मज़बूत छोड़ा है जितना उन्हें छह साल पहले मिला था.

इमेज कॉपीरइट AFP

डेविड कैमरन ने यूरोपीय संघ के मुद्दे पर हुए जनमत संग्रह के बाद अपना पद छोड़ने का फ़ैसला किया था.

59 साल की टेरीज़ा मे, मारग्रेट थैचर के बाद ब्रिटेन की प्रधानमंत्री बनने वाली दूसरी महिला हैं.

वो 1997 से लगातार ब्रिटेन की संसद की सदस्य हैं और अपने स्टाइल और फैशन के लिए भी ख़ूब मशहूर रही हैं.

माना जाता है कि उनके पास सैंडलों का अच्छा ख़ासा क्लेक्शन है.

टेरीज़ा मे कह चुकी हैं कि ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से निकलने के बारे में कोई भी फैसला 2016 ख़त्म होने से पहले संभव नहीं है.

उन्होंने कहा है कि यूरोपीय संघ की सदस्यता के मुद्दे पर अब दूसरा कोई जनमत संग्रह नहीं होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार