फ्रांस के विदेश मंत्री ने कहा- 'बोरिस झूठे हैं'

  • 14 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क ऐरो

फ्रांस के विदेश मंत्री ने कहा है कि ब्रिटेन के नवनियुक्त विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन 'झूठे हैं और अब वो घिर गए हैं.'

फ़्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क ऐरो ने यूरोप वन रेडियो को दिए इंटरव्यू में कहा कि बोरिस जॉनसन ने हाल के ईयू जनमत संग्रह अभियान के दौरान ब्रितानी जनता झूठ बोला था और अब अपने देश का बचाव करने के लिए वो दबाव में होंगे.

उन्होंने कहा कि फ्रांस को एक भरोसेमंद वार्ताकार सहयोगी की ज़रूरत है.

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption ब्रिटेन के नवनियुक्त विदेश मंत्री बोरिस जॉनसन लंदन के मेयर रह चुके हैं.

लंदन के पूर्व मेयर जॉनसन ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के अभियान का नेतृत्व किया था.

जनमत संग्रह के परिणामों के बाद उम्मीद की जा रही थी कि वो कंज़रवेटिव पार्टी का नेतृत्व करने का दावा पेश करेंगे.

लेकिन उन्होंने महत्वपूर्ण सहयोगियों से मदद न मिलने के बाद वो उन्होंने खुद को रेस से हटा दिया था. विदेश मंत्री के रूप में उनकी नियुक्ति से दुनियाभर के नेता हैरान हैं.

फ़्रांस के विदेश मंत्री ऐरो ने कहा, "मैं बोरिस जॉनसन को लेकर कतई चिंतित नहीं हूं. कैंपेन के दौरान उनकी शैली और उनके तरीके से लोग वाकिफ़ हैं. उन्होंने ब्रितानी जनता से ख़ूब झूठ बोला है. अब वो घिर गए हैं. यूरोप के साथ रिश्ते स्पष्ट होने चाहिए."

उन्होंने कहा, "मुझे ऐसा पार्टनर चाहिए जिसके साथ मैं बातचीत कर सकूं और जो स्पष्ट हो और भरोसे के क़ाबिल हो."

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption ब्रिटेन की नई प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने बोरिस जॉनसन को विदेश मंत्री बनाया है

फ्रांस और दूसरे यूरोपीय देशों ने ब्रिटेन से आग्रह किया है कि वो ईयू छोड़ने की प्रक्रिया शुरू करे ताकि अनिश्चितता कम की जा सके.

नई ब्रितानी प्रधानमंत्री टेरीज़ा मे ने ईयू से अलग होने की प्रक्रिया को लागू करने का वादा किया है, लेकिन ये नहीं कहा है कि औपचारिक रूप से ईयू से बाहर निकलने की योजना पर वो काम कब शुरू करेंगी.

उन्होंने फ्रांस के राष्ट्रपति फ़्रांस्वां ओलांद से बात कर ली है. प्रधानमंत्री टेरिज़ा मे की प्रवक्ता ने बताया कि उन्होंने राष्ट्रपति से कहा है कि ब्रिटेन को वार्ता की तैयारी के लिए थोड़ा समय चाहिए होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार