'क्या क़ंदील से इस्लाम ख़तरे में था'

  • 16 जुलाई 2016
क़ंदील बलोच इमेज कॉपीरइट QandeelQuebee

क़ंदील बलोच की हत्या के बाद लोग सोशल मीडिया पर उन्हें याद कर रहे हैं.

क़ंदील की हत्या उन्हीं के भाई ने कर दी है. पंजाब पुलिस ने बीबीसी से इसकी पुष्टि की है और कहा है कि उनकी हत्या गला दबाकर की गई.

पाकिस्तानी मीडिया इसे ऑनर किलिंग यानी इज़्ज़त के नाम पर क़त्ल बता रहा है.

पाकिस्तान में क़ंदील बलोच ट्विटर पर शीर्ष पर ट्रेंड कर रही हैं.

पाकिस्तानी फ़िल्मकार शर्मीन ओबैद ने लिखा, "ऑनर किलिंग में क़ंदील बलोच की हत्या. हमारे ऑनर किलिंग विरोधी क़ानून बनाने से पहले कितनी महिलाओं को अपनी जान देनी होगी."

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ़ अली ज़रदारी की बेटी बख़्तावर बी ज़रदारी ने ट्वीट किया है, "इसके पीछे न कोई तर्क नहीं है, न कोई ऑनर है और न ही इसका कोई बचाव है. यह बहुत ज़्यादा हो गया है. उनके भाई की गिरफ़्तारी के साथ ही इस घोर अपराध को लेकर एक मिसाल खड़ी की जानी चाहिए."

इमेज कॉपीरइट QandeelQuebee

विपक्षी पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी के नफ़ीसा शाह ने ट्वीट किया है, "एक सोशल मीडिया स्टार, जिसने समाज के ढोंग को उजागर किया. एक बुरे कानून की वजह से परिवार वाले ने ही उनकी हत्या कर दी. यह निंदनीय है."

पाकिस्तानी अभिनेत्री सनम बलोच ने लिखा है, "यह दुःख देने वाली ख़बर है. क़ंदील बलोच की हत्या उनके भाई ने ही कर दी. ऑनर किलिंग को बंद करो."

भारतीय अभिनेत्री रिचा चड्ढा ने लिखा, "भ्रूण के रूप में लड़कियां बाप के हाथों मारी जाती हैं, सम्मान के नाम पर भाइयों के हाथों मारी जाती हैं और पत्नी के रूप में दहेज़ के लिए मारी जाती हैं.'

मीशा शफ़ी ने लिखा, "क्या आपने कभी सुना है कि किसी बहन ने अपने भाई की बैग़ैरती के लिए उसकी हत्या कर दी हो? नहीं. ये सम्मान का नहीं पितृसत्ता का मामला है."

मंसूर अली ख़ान ने लिखा, "प्रिय मीडिया, ग़ैरत (सम्मान) के नाम पर क़त्ल जैसी कोई चीज़ नहीं होती है. ये वाक्य ही अपने आप में अपमानजनक है."

उमैर जावेद ने लिखा, "कैसा दयनीय छोटी सोच वाला देश है. हमें अपने आप पर ही शर्म आ रही है."

इमेज कॉपीरइट QANDEEL BALOCH TWITTER

वहीं नज़राना गफ़्फ़ार ने लिखा, "उनके बेटे और पति की तस्वीरें प्रकाशित करने वाली मीडिया भी इसके लिए ज़िम्मेदार है. आपने भी उनके क़त्ल को उक़साया है."

महीन तसीर ने लिखा, "क़ंदील के बारे में लोगों के व्यक्तिगत विचार भले ही जो भी हों लेकिन क़त्ल को सही नहीं ठहराया जा सकता. उनके भाई को फ़ांसी होनी चाहिए."

सुंदूस रशीद ने लिखा, "एक पुरुष की इज़्ज़त महिला के शरीर में क्यों होती हैं?"

प्रमोद सिंह ने लिखा, "पाकिस्तानी मॉडल क़ंदील बलोच की हत्या.. ज़रा सा आज़ाद ख़याल वाली लड़की से भी इस्लाम खतरे में पड़ गया था!"

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार