तुर्की: 8000 सैन्य अधिकारी निलंबित

  • 18 जुलाई 2016
इमेज कॉपीरइट AP

तुर्की सरकार के मुताबिक करीब आठ हज़ार पुलिस अधिकारियों को तख़्तापलट की कोशिश में कथित तौर पर शामिल होने के संदेह में निलंबित किया गया है.

इसके अतिरिक्त सेना और न्याय व्यवस्था से जुड़े करीब छह हज़ार लोगों को हिरासत में लिया गया है. इनमें सेना में जेनरल रैंक तक के अधिकारी शामिल हैं.

तुर्की में राष्ट्रपति रेचप तैयब अर्दोआन ने विद्रोह करने वाले ‘वायरसों’ को सरकारी प्रतिष्ठानों से निकालने की कसम खाई है.

तुर्की की सरकार का दावा है कि तख़्तापलट के पीछे धर्म गुरु फहतुल्ला गुलेन का हाथ है. गुलेन इन दिनों अमरीका में रह रहे हैं और उन्होंने तख़्तापलट की कोशिश में अपनी किसी भी तरह से शामिल होने से इनकार किया है.

इमेज कॉपीरइट Getty

सरकारी मीडिया ने सोमवार को कहा है कि देश भर में 100 से ज़्यादा जनरल और एडमिरल को हिरासत में लिया गया है.

वहीं तुर्की के आठ सैन्य अधिकारी हेलीकाफ्टर के ज़रिए ग्रीस भाग गए हैं. उन्हें ग्रीस में गैरक़ानूनी ढंग से प्रवेश करने के आरोप में ग्रीस के सीमावर्ती शहर अलेक्जांद्रोपाउली में अदालत में पेश किया है.

तुर्की के राष्ट्रपति अर्दोआन ने रविवार को कहा है कि उनकी सरकार मृत्युदंड को फिर से बहाल करने पर विचार कर रही है.

2004 में यूरोपीय संघ में शामिल होने के क्रम में तुर्की में मृत्युदंड को समाप्त किया गया था. देश में 1984 के बाद से ये सज़ा किसी को नहीं दी गई है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उधर यूरोपीय संघ की विदेश नीति के प्रमुख फ़ेडेरिका मोगेरिनी ने भी कहा है कि तुर्की में क़ानून के शासन को सुरक्षा दिए जाने की जरूरत है.

उन्होंने ब्रसल्स में यूरोपीय संघ के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों और अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी के बीच होने वाली बैठक से ऐसा बयान दिया है. माना जा रहा है कि इस बैठक में भी तुर्की का मुद्दा छाया रहेगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए