काबुल की यूनिवर्सिटी में हमला, 13 मौतें

  • 25 अगस्त 2016
इमेज कॉपीरइट EPA

काबुल पुलिस का कहना है कि अमरीकन यूनिवर्सिटी में हुए हमले में अभी तक सात छात्रों समेत 13 लोगों की हो गई है.

इसके साथ ही अफ़गानिस्तानी सुरक्षाबल ने हमले के दस घंटे बाद यूनिवर्सिटी में हमला करने वाले दो बंदूक़धारियों को भी मार गिराया है.

हमलावरों की तलाश में जुटे सुरक्षाबलो ने इमारत में बंद छात्रों और यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों को छोड़ दिया गया है.

काबुल पुलिस के मुखिया अब्दुल रहमान रहीमी ने बीबीसी को बताया कि मारे गए लोगों में तीन पुलिस वाले और तीन गार्ड भी शामिल हैं. इस हमले में 35 स्टूडेंट और नौ पुलिस वाले घायल हुए हैं जबकि 750 छात्रों और स्टाफ को छुड़ाया गया है.

इमेज कॉपीरइट

काबुल पुलिस में आपराधिक जांच विभाग के मुखिया फराएदून ओबैदी ने एएफ़पी को बताया कि "हमारा जांच का काम ख़त्म हो चुका है, हमने दो हमलावरों को मार गिराया है."

हमले के दौरान इमारत में फंसने वाले लोगों में पुल्तिज़र सम्मान से सम्मानित फोटो पत्रकार मसूद हुसैनी भी थे. जिन्होंने ट्वीट कर मदद की मांग की थी, वे 15 स्टूडेंट के साथ कक्षा में थे.

बाद में किसी तरह से बच निकलने के बाद उन्होंने समाचार एजेंसी एपी को बताया, ''मैं खिड़की पर ये गया था कि क्या हो रहा है. बाहर सादे कपड़ों में एक व्यक्ति था. वो मुझ पर चिल्लाया और उसने शीशा चकनाचूर कर दिया.''

इमेज कॉपीरइट AP

मसूद ने बताया कि क्लासरूम पर कम से कम दो ग्रेनेड फेंके गए जिससे कई छात्र घायल हुए. इसके बाद छात्रों ने कमरों से बचकर अपनी जान बचाई.

अमरीकन यूनिवर्सिटी में लगभग 1700 छात्र पढ़ते हैं. इनमें से अधिकतर पढ़ाई के साथ यहां वहां काम भी करते हैं.

अमरीकन यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी के कोर्स चलाए जाते हैं और कुछ पेशेवर योग्यता वाली स्नातक डिग्रियां भी दी जाती हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार