Got a TV Licence?

You need one to watch live TV on any channel or device, and BBC programmes on iPlayer. It’s the law.

Find out more
I don’t have a TV Licence.

लाइव रिपोर्टिंग

time_stated_uk

  1. मोज़ाम्बिक: पल्मा में हुए हमले में दर्जनों की मौत, कई लोग अब भी लापता

    मोज़ाम्बिक

    मोज़ाम्बिक के रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ओमर सारंगा ने बताया है कि देश के उत्तरी हिस्से में समुद्रतट पर मौजूद शहर पल्मा में हुए कथित इस्लामी चरमपंथियों के हमले में दर्जनों लोगों की मौत हो गई है.

    ओमर सारंगा के अनुसार सात लोगों की मौत उस वक्त हो गई जब वो एक होटल से निकल कर भागने की कोशिश कर रहे थे. वो चार दिन तक इस होटल में छिपे रहे थे.

    मंत्रालय का कहना है कि चरमपंथियों के चंगुल से सैंकड़ों स्थानीय और विदेशी लोगों को बचा लिया गया है.

    बुधवार को इस इलाक़े पर कथित इस्लामी चरमपंथियों ने हमला किया था. प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि हमलावरों से बचने के लिए वो छिपे हुए थे और सुरक्षाबलों का इंतज़ार कर रहे थे. उनका कहना है कि समुद्रतट पर उन्होंने कई लोगों के शव देखे जिनके सिर धड़ से अगल कर दिए गए थे.

    मरीन ट्रैफिक की वेबसाइट के अनुसार पल्मा और पेम्बा बंदरगाह के नज़दीक बड़ी संख्या में नाव और यात्री जहाज़ देखे गए हैं और लोग नावों के ज़रिए पल्मा से बच कर भागने की कोशिश कर रहे हैं.

    एक कॉन्ट्रैक्टर ने बीबीसी को बताया कि बच कर भागने वाले कई लोग ऐसे हैं जो होटल से बच कर भागे हैं. ये लोग शुक्रवार की रात से ही समुद्रतट पर आकर छिप गए थे. इन्हें शनिवार सवेरे सुरक्षाबलों ने बचाया.

    बचाव दल से जुड़े एक सूत्र ने समाचार एजेंसी एएफ़पी का बताया कि रविवार दोपहर को 1,400 लोगों को लेकर एक जहाज़ पल्मा से 250 किलोमीटर दूर पेम्बा बंदरगाह पहुंचा.

    राहत एजेंसियों का कहना है कि लोगों को लेकर कई और छोटी-छोटी नाव पेम्बा के लिए निकल चुकी हैं और सोमवार सवेरे तक वहां पहुंच सकती हैं.

    पल्मा में क्या है स्थिति?

    काबो डेल्गाडो प्रांत में बसे पल्मा की आबादी क़रीब 75,000 है. चरमपंथी हमले में कितने लोगों की मौत हुई है अब तक ये स्पष्ट नहीं है. लेकिन बताया जा रहा है कि कई लोग अब भी लापता है.

    मोज़ाम्बिक पुलिस की मदद कर रही डाइक एडवाइज़री ग्रूप प्राइवेट सिक्योरिटी कंपनी के कर्नल लायनेल डाइक कहते हैं, “पूरे शहर में शव बिखरे पड़े हैं. कई शवों के सिर धड़ से अलग किए गए हैं.”

    बताया जा रहा है एक हथियारबंद गुट ने शहर को अपने कब्ज़े में ले लिया है. लेकिन पल्मा से सभी तरह के संपर्क टूट गए हैं. ऐसे में इस दावे की पुष्टि नहीं की जा सकी है.

    बुधवार को जब हमला शुरू हुआ उस वक्त सबसे पहले हथियारबंद चरमपंथियों के के समूह ने सबसे पहले दुकानों, बैंकों और सेना के ठिकानों पर हमले किए.

    हमले से बचने के लिए कई लोग जंगलों में भाग गए और कई आसपास के मैन्ग्रूव के जंगलों की तरफ चले गए. यहां के एक गैस प्रोजेक्ट में काम करने वाले क़रीब सौ कर्मचारियों और कई स्थानीय लोगों ने शहर के एक होटल में पनाह ली.

    शुक्रवार को कई लोगों ने होटल से निकल कर समुद्रतट तक पहुंचने की कोशिश की लेकिन कइयों को होटल के बाहर मार दिया गया.

    अपुष्ट ख़बरों के अनुसार एक ब्रितानी नागरिक होटल में फंसे हैं. आरए इंटरनेशनल नाम की एक कंपनी ने बीबीसी को बताया कि वो ब्रितानी नागरिक के बारे में और जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं. कंपनी का कहना है कि शुक्रवार दोपहर को आख़िरी बार वो अपने कर्मचारियों से संपर्क कर सके थे.

    उत्तरी मोज़ाम्बिक में साल 2017 के बाद से चरमपंथी हमले होते रहे हैं. मुख्य रूप से मुसलमान आबादी वाले काबो डेल्गाडो में कथित चरमपंथी समूह इस्लामिक स्टेट से जुड़े समूहों के हमले होते रहे हैं. अब तक इन हमलों में 2,500 लोगों की मौत हुई है जबकि 700,000 लोगों को अपने घर छोड़ने पड़े हैं.

  2. ब्रेकिंग न्यूज़आर्मीनिया के प्रधानमंत्री बोले, अगले महीने इस्तीफ़ा दूंगा

    निकोल पाशिन्यान

    आर्मीनिया के प्रधानमंत्री निकोल पाशिन्यान ने कहा है कि वो अगले महीने अपने पद से इस्तीफ़ा दे देंगे लेकिन देश में चुनाव होने तक कार्यकारी प्रधानमंत्री के तौर पर काम करते रहेंगे.

    देश के उत्तर पश्चिम में बसे मास्निक्यान शहर में एक रैली के दौरान निकोल पाशिन्यान ने कहा कि, “सबसे पहले मैं आपको बता दूं कि मैं अप्रैल में इस्तीफ़ा दूंगा. क्यों? मैं पद छोड़ने के लिए इस्तीफ़ा नहीं दूंगा लेकिन मैं चाहता हूं कि देश में जल्द से जल्द चुनाव हों और इस बीच मैं कार्यकारी प्रधानमंत्री के तौर काम करता रहूंगा.”

    बीते साल नागोर्नो-कराबाख़ के विवादित इलाक़े को लेकर अज़रबैजान और आर्मीनिया के बीच युद्ध हुआ था जिसमें हार से बाद से पाशिन्यान पर इस्तीफ़ा देने का दवाब बढ़ गया था. देश के कई शहरों में उनके विरोध में प्रदर्शन हो रहे थे और प्रदर्शनकारी उनके इस्तीफ़े की मांग कर रहे थे.

    प्रधानमंत्री के इस्तीफ़े की मांग को लेकर येरेवान में हुई एक रैली में शामिल कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री के प्रस्ताव को खारिज कर दिया और कहा कि एक बार इस्तीफ़ा देने के बाद उन्हें पूरी तरह के पद छोड़ देना चाहिए.

    अज़रबैजान और आर्मीनिया के बीच युद्ध छह सप्ताह तक चला, जिसके बाद बीते साल नवंबर में रूस की मध्यस्थता से दोनों देशों के समझौता हो गया था. इस समझौते के तहत बीते तीन दशकों में जिन इलाक़ों पर उसका कब्ज़ा था उसे वो अज़रबैजान को देना पड़ा और वहां रूसी शांतिसैनिकों की तैनाती पर राज़ी होना पड़ा.

    पाशिन्यान का कहना था कि अगर वो समझौते के लिए राज़ी नहीं होते के देश के सैनिकों को और नुक़सान झेलना पड़ता. लेकिन उनके इस फ़ैसले के नागरिकों में काफी नाराज़गी थी. युद्ध के ख़त्म होने के बाद उनके ख़िलाफ रैलियां निकाली गईं.

    बीते महीने विरोध प्रदर्शन उस वक्त और तीव्र हो गए जब उन्होंने देश के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी पर तख्तापलट करने की कोशिश करने का आरोप लगाकर उन्हें बर्खास्त कर दिया. सैन्य अधिकारी ने उनसे इस्तीफ़ा देने की अपील की थी.

    इसके बाद इसी महीने पाशिन्यान ने देश में संसदीय चुनाव कराने की घोषणा की और कहा कि “देश में जारी मौजूदा संकट से निपटने का यही बेहतर रास्ता है”.

    आर्मीनिया में इसी साल जून 20 में चुनाव होने हैं.

    चुनाव से जुड़े क़ानूनों के अनुसार संसदीय चुनावों से पहले 30 अप्रैल तक पाशिन्यान को पद छोड़ना होगा. पाशिन्यान ने उम्मीद जताई है कि वोटरों का भरोसा मिला तो एक बार फिर सरकार बना सकेंगे.

  3. ब्रेकिंग न्यूज़मेक्सिको में कोविड-19 से 60 फीसदी अधिक मौतें, सरकार ने जारी की नई रिपोर्ट

    मेक्सिको कोरोना वायरस

    मेक्सिको सरकार ने कोरोना वायरस के कारण हुई मौतों के आंकड़ों में संशोधन किया है और कहा है कि देश में कोरोना के कारण जितनी मौतें बताई गई थीं असल में उससे 60 फीसदी अधिक मौतें हुई हैं.

    शनिवार को मेक्सिको सरकार ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के कारण अब तक 321,000 लोगों की मौत हो चुकी है. इससे पहले सरकार ने देश में 201,429 मौतों की पुष्टि की थी.

    जॉन्स हॉप्किन्स युनिवर्सिटी के डैशबोर्ड के अनुसार दुनिया में कोरोना के कारण सबसे अधिक 549,155 मौतें अमेरिका में हुई हैं. अमेरिका के बाद सबसे अधिक 310,550 मौतें ब्राज़ील में हुई हैं.

    लेकिन अब संशोधित आंकड़ों के साथ मेक्सिको दुनिया का दूसरा देश बन गया है जहां इस वायरस ने सबसे अधिक जानें ली हैं.

    आंकड़ों में संशोधन की ख़बर ऐसे वक्त आई है जब देश में विपक्ष महामारी पर काबू न कर पाने के लिए राष्ट्रपति आंद्रेज़ मैनुएल लोपेज़ ओब्राडोर की कड़ी आलोचना कर रहा है. विपक्ष का कहना है कि राष्ट्रपति ने महामारी को गंभीरता से नहीं लिया और महामारी के शुरूआती महीनों में सार्वजनिक स्थानों में मास्क के इस्तेमाल करने को बाध्यकारी करने से इनकार कर दिया था.

    शनिवार को सरकार ने एक रिपोर्ट प्रकाशित की है जिसके अनुसार महामारी की शुरूआत से लेकर 14 फरवरी तक देश में 294,287 मौतें हुई हैं. फरवरी 15 के बाद कोरोना के कारण और 26,772 मौतों की पुष्टि हुई है.

    महामारी के शुरूआती दौर में मेक्सिको में अस्पतालों पर भारी दवाब पड़ा था और कोरोना के टेस्ट अधिक नहीं किए गए थे. सरकार की नई रिपोर्ट के अनुसार उस दौरान कई लोगों की मौतें घरों में ही हुई थीं.

    ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार मेक्सिको में जनवरी में कोरोना की दूसरी लहर घातक साबित हुई थी. दिसंबर के आख़िर तक यहां कोविड-19 के कारण 220,000 (नए आंकड़ों को शामिल करने के बाद) लोगों की मौत हुई थी. इसके देढ़ महीने के भीतर देश में और 75,000 मौतें हुईं.

    सरकार ने रिपोर्ट इस ओर भी इशारा करती है कि पहले के सालों के आंकड़ों की तुलना में महामारी की शुरूआत से देश में तकरीबन 417,000 “अधिक मौतें” हुई हैं.

    मरने वालों की मृत्यु प्रमाणपत्र की समीक्षा के बाद सरकार ने ये रिपोर्ट जारी की है. हज़ारों लोगों के मृत्यु प्रमाणपत्र में लोगों की ‘मौत के कारण का शक़ या मौत की एक और वजह’ कोरोना वायरस लिखा हुआ है जिसके आधार पर ताज़ा रिपोर्ट तैयार की गई है.

    हालांकि जानकारों का कहना है कि कोरोना वायरस इससे कहीं अधिक मौतों का ज़िम्मेदार हो सकता है क्योंकि अस्पतालों के भरे होने के कारण दूसरी बीमारियों से जूझ रहे लोग भी अपना इलाज नहीं करवा पाए थे.

  4. पश्चिम बंगाल चुनाव: पहले दौर की 30 सीटों के लिए 84.63 प्रतिशत मतदान

    प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से, बीबीसी हिंदी के लिए

    पश्चिम बंगाल

    पहले दौर की 30 सीटों पर शनिवार को 84.63 प्रतिशत मतदान हुआ है. राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आऱिज आफ़ताब ने रविवार को बताया, “पश्चिम मेदिनीपुर ज़िले में रिकार्ड 87.17 प्रतिशत वोट पड़े हैं, पूर्व मेदिनीपुर में 86.32, झाड़ग्राम में 84.73, बांकुड़ा में 84.27 और पुरुलिया में 81.77 प्रतिशत मतदान हुआ है.”

    इससे पहले चुनाव आयोग ने शनिवार शाम 9 बजे तक 79.79 प्रतिशत मतदान की बात कही थी.

    इधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि वे शुभेंदु अधिकारी को हराने के लिए नहीं बल्कि स्थानीय लोगों के अनुरोध पर नंदीग्राम से चुनाव लड़ रही हैं. नंदीग्राम से सटे चंडीपुर में पार्टी की चुनावी रैली में उनका कहना था, “वेअगर मेरी जान ले लें तब भी बीजेपी और सीपीएम के ख़िलाफ़ मैं अपनी लड़ाई बंद नहीं करूँगी.”

    ममता ने अपनी रैलियों में टीएमसी की जीत का भरोसा जताते हुए कहा कि दो मई को हरे रंग के गुलाल से राज्य में फिर होली मनाई जाएगी. उन्होंने अमित शाह का नाम लिए बिना पहले चरण की 30 में से 26 सीटें जीतने के दावे के लिए उनकी आलोचना की.

    उन्होंने कहा, “बीजेपी के एक नेता मतदान के एक दिन बाद ही 26 सीटें जीतने के दावे पता नहीं किस आधार पर कर रहे हैं. वह सभी 30 सीटों पर भी जीत का दावा कर सकते थे. क्या उन्होंने बाक़ी सीटें कांग्रेस और सीपीएम के लिए छोड़ दी हैं?”

  5. इमरान क़ुरैशी

    बीबीसी हिंदी डॉटकॉम के लिए

    येदियुरप्पा

    छोटे जातीय समूहों को अपनी तरफ़ आकर्षित करके यादव या जाटव जैसे शक्तिशाली समूहों को कमज़ोर करने की बीजेपी की सोशल इंजीनियरिंग की रणनीति इस विधानसभा चुनाव में कैसे काम कर रही है.

    और पढ़ें
    next
  6. होली से पहले कोरोना के मामलों ने बढ़ाई चिंता

    कोरोना वायरस

    भारत के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं. समाचार एजेंसियों के मुताबिक, मुंबई में रविवार को कोरोना के 6923 नए मामले सामने आए और आठ लोगों ने दम तोड़ा.

    इसी तरह दिल्ली में रविवार को कोरोना के 1881 नए मरीज़ों का पता चला जबकि 9 मरीज़ों ने दम तोड़ा. होली के मद्देनज़र उत्तर भारत के अधिकांश राज्यों में कोरोना से बचाव और ऐहतियात संबंधी परामर्श जारी किए गए हैं.

    अधिकतर जगहों पर होली पर लोगों की भीड़ जुटने से रोकने का प्रयास किया जा रहा है और चिंता जताई गई है कि लापरवाही बरतने पर कोरोना के मामले होली के बाद और भी अधिक तेज़ी से बढ़ सकते हैं.

    View more on twitter

    इसी तरह पंजाब में कोरोना वायरस के 2963 नए मामलों की जानकारी मिली है जहां मरने वालों की संख्या भी तेज़ी से बढ़ रही है. उत्तर प्रदेश में भी बीते 24 घंटे में 1446 नए मामलों का पता चला है जबकि तीन लोगों की मौत हुई है.

    View more on twitter

    इस बीच मुंबई में रविवार रात आठ बजे से अगले दिन सुबह सात बजे तक के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने चेतावनी दी है कि कोरोना के मामले बढ़ने पर लॉकडाउन का दायरा बढ़ाया जा सकता है.

    मुंबई
  7. एनआईए को मिठी नदी से डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, सीपीयू, लैपटाप और नंबर प्लेट्स मिलीं

    मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक मिलने और मनसुख हिरेन की मौत के बहुचर्चित मामले में जांच आगे बढ़ी

    समाचार एजेंसियों के मुताबिक, मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक मिलने और मनसुख हिरेन की मौत के बहुचर्चित मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए), मुंबई पुलिस के बर्ख़ास्त अधिकारी सचिन वाझे को लेकर मिठी नदी पहुंची जहां से गोताखोरों ने डिजिटल वीडियो रिकॉर्डर, सीपीयू, एक लैपटाप और दो नंबर प्लेट्स बरामद की हैं.

    View more on twitter
    View more on twitter
  8. किसानों ने विवादित कृषि क़ानूनों की प्रतियां होलिका दहन में जलाई

    होलिका दहन

    संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से किसान नेता डॉक्टर दर्शन पाल ने एक प्रेस नोट जारी करके जानकारी दी है कि किसानों ने रविवार को विवादित कृषि क़ानूनों की प्रतियां होलिका दहन में जलाई हैं.

    प्रेस नोट में कहा गया है कि दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के धरना-स्थलों पर किसानों ने कृषि कानूनों को किसान और जनता विरोधी करार देते हुए होली मना रहे हैं.

    किसानों से इसे बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक मानते हुए कहा कि विवादित क़ानूनों को रद्द करना ही पड़ेगा और न्यूनतम समर्थन मूल्य पर सरकार को क़ानून बनाना ही पड़ेगा.

  9. भारत ने इंग्लैंड के सामने रखा 330 रन का लक्ष्य, शिखर धवन और ऋषभ पंत की हाफ़ सेंचुरी

    ऋषभ पंत
    Image caption: ऋषभ पंत

    पुणे में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे तीसरे और निर्णायक एकदिवसीय मुकाबले में भारत ने इंग्लैंड के सामने 330 रनों का लक्ष्य रखा है.

    मैच में इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करने का फ़ैसला किया था.

    भारत की शुरुआत एक तरह से अच्छी रही. सलामी बल्लेबाज़ रोहित शर्मा और शिखर धवन ने पहले विकेट की साझेदारी में 103 रन जोड़े.

    मेजबान टीम को पहला झटका मैच के 15वें ओवर की चौथी गेंद पर उस वक़्त लगा जब रोहित शर्मा 37 रनों के स्कोर पर बोल्ड हो गए.

    इसके बाद क्रिच पर कप्तान विराट कोहली का आना हुआ. शिखर धवन और विराट कोहली के बीच दूसरे विकेट की साझेदारी ज़्यादा नहीं चली.

    भारत ने इंग्लैंड को 7 रनों से हराकर 2-1 से सिरीज़ अपने नाम की

    विराट कोहली

    पुणे में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे तीसरे और निर्णायक एकदिवसीय मुकाबले में मेहमान टीम ने टॉस जीतकर पहले बॉलिंग करने का फ़ैसला किया था.

    और पढ़ें
    next
  10. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव: ममता ने नंदीग्राम में डाला डेरा

    बंगाल चुनाव
    Image caption: ममता बनर्जी इसी मकान में रहेंगी

    प्रभाकर मणि तिवारी

    कोलकाता से

    पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी रविवार शाम से एक अप्रैल को मतदान होने तक नंदीग्राम में ही रहेंगी.

    आज पश्चिम मेदिनीपुर के चंडीपुर में अपनी रैली में उन्होंने इसका एलान किया.

    नंदीग्राम सीट पर उनका मुकाबला कभी अपने करीबी रहे और अब बीजेपी उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी से है.

    ममता के नंदीग्राम से चुनाव लड़ने के एलान के बाद शुभेंदु ने उन पर बाहरी होने का आरोप लगाया था.

    उसी के बाद टीएमसी ने नंदीग्राम के रेयापाड़ इलाके में ममता के लिए दो घर किराए पर लिए हैं.

    पहले ममता को जिस मकान में रहना था उसकी नीचे की मंजिल पर दुकानें हैं और ममता को ऊपर की मंजिल पर रहना था.

    लेकिन टीएमसी के एक नेता ने बताया कि पैर में चोट की वजह से दीदी अब दूसरे मकान में नीचे की मंजिल पर रहेंगी.

    ममता शाम को उसी बिरूलिया बाजार में एक रैली को संबोधित करेंगी जहां उनको चोट लगी थी.

    10 मार्च को हुए उस हादसे के बाद यह उनका पहला नंदीग्राम दौरा है.

  11. यूपी: 'जूतामार होली' की वजह से शाहजहांपुर में ढक दी गईं मस्जिदें

    शाहजहांपुर में ढंकी हुई मस्जिद
    Image caption: शाहजहांपुर में ढंकी हुई मस्जिद

    उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर ज़िले में 'जूतामार' होली की एक अनोखी परंपरा चली आ रही है जिसमें क़रीब आठ किमी लंबा 'लाट साहब' का जुलूस निकलता है.

    किसी तरह का कोई विवाद न होने पाए, इसलिए प्रशासन ने जुलूस के रास्ते में पड़ने वाली दर्जनों मस्जिदों और मज़ारों को तिरपाल से ढक दिया है. मस्जिदों को ढकने का काम पिछले कई सालों से होता आ रहा है.

    होली के दिन शहर में लाट साहब के दो जुलूस निकलते हैं. मुख्य लाट साहब जुलूस क़रीब आठ किमी लंबा होता है जिसे तय करने में तीन घंटे से ज़्यादा समय लगता है.

    जुलूस में एक व्यक्ति को लाट साहब के रूप में भैंसा गाड़ी पर बैठाया जाता है और फिर उसे जूते और झाड़ू मारते हुए पूरे शहर में घुमाया जाता है.

    यूपी: 'जूतामार होली' की वजह से शाहजहांपुर में ढक दी गईं मस्जिदें

    शाहजहांपुर में ढंकी हुई मस्जिद

    उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर ज़िले में 'जूतामार' होली की एक अनोखी परंपरा चली आ रही है जिसमें क़रीब आठ किमी लंबा 'लाट साहब' का जुलूस निकलता है.

    और पढ़ें
    next
  12. बंगाल में बीजेपी जीती तो शेख़ हसीना की चुनौतियाँ बढ़ेंगी: बांग्लादेशी मीडिया

    पीएम मोदी, शेख़ हसीना

    बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वापस भारत लौट तो आए हैं, लेकिन वहां के अख़बारों और न्यूज़ वेबसाइट पर रविवार को भी छाए रहे.

    'द डेली स्टार' न्यूज़ वेबसाइट पर सबसे पहलालेखप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से ही जुड़ा है. इसका शीर्षक है -'कनेक्टिविटी बियॉन्डबांग्लादेश, इंडिया'.

    इसमें कहा गया है कि द्विपक्षीय बातचीत के दौरान बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना और उनके भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी ने लंबित मसलों को निपटाने का संकल्प लिया और दोनों देशों के संबंधों को और मज़बूत करने, पूरे दक्षिण एशिया में शांति और स्थितरता स्थापित करने की प्रतिबद्धता को नया आयाम दिया.

    साथ ही दोनों नेताओं ने व्यापार के विस्तार के लिए क्षेत्रीय कनेक्टिविटी को और बेहतर बनाने पर ज़ोर दिया. वहीं, शेख़ हसीना ने तीस्ता जल बंटवारे से जुड़े समझौते पर हस्ताक्षर करने की ज़रूरत को दोहराया.

    बंगाल में बीजेपी जीती तो शेख़ हसीना की चुनौतियाँ बढ़ेंगी: बांग्लादेशी मीडिया

    पीएम मोदी, शेख़ हसीना

    बांग्लादेश के दो दिवसीय दौरे के बाद प्रधानमंत्री मोदी वापस लौट आए हैं, लेकिन वहां के मीडिया में रविवार को भी छाए रहे. पढ़िए, पीएम मोदी के दौर को लेकर बांग्लादेश की मीडिया में किस तरह की ख़बरें छपी हैं.

    और पढ़ें
    next
  13. भारत-पाकिस्तान: रिश्ते सुधारने के लिए दोनों देश बढ़ा रहे हैं बड़े कदम

    नरेंद्र मोदी, इमरान ख़ान

    पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू अख़बारों में इस हफ़्ते विपक्षी पार्टियों के बीच मतभेद उभरने, भारत-पाकिस्तान संबंधों और पाकिस्तान में पेट्रोलियम संकट से जुड़ी ख़बरें सबसे ज़्यादा सुर्ख़ियों में रहीं.

    अख़बार दुनिया के अनुसार भारत और पाकिस्तान के बीच राजनयिक संबंधों की बहाली के लिए कोशिशें तेज़ हो गईं हैं. अख़बार के अनुसार दोनों देशों ने उच्चायुक्तों की तैनाती पर काम शुरू कर दिया है और जल्द ही दोनों देशों के बीच संबंधों को बढ़ाया जाएगा.

    अख़बार का दावा है कि अत्यंत भरोसेमंद सूत्रों ने उन्हें बताया है कि भारत सरकार की तरफ़ से भारत प्रशासित कश्मीर में उठाए गए क़दम के बाद पाकिस्तान ने भारत के साथ संबंधों को कम कर दिया था और उसके बाद दोनों देशों के बीच संबंध और भी ख़राब होते चले गए थे.

    लेकिन मिलिट्री ऑपरेशन के डायरेक्टर जनरल के बीच हुई बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों की बहाली के लिए काम शुरू हो गया है. अख़बार के अनुसार उनके सूत्र का कहना है कि दोनों तरफ़ से बैकडोर चैनल से बातचीत जारी है. आने वाले दिनों में दोनों देशों में उच्चायुक्त को तैनात कर दिया जाएगा.

    भारत-पाकिस्तान: रिश्ते सुधारने के लिए दोनों देश बढ़ा रहे हैं बड़े कदम

    नरेंद्र मोदी, इमरान ख़ान

    मिलिट्री ऑपरेशन के डायरेक्टर जनरल के बीच हुई बातचीत के बाद दोनों देशों के बीच संबंधों की बहाली के लिए काम शुरू हो गया है.

    और पढ़ें
    next
  14. कमल हासनः अभिनेता से राजनेता तक एक असली 'दशावतारम'

    कमल हासन

    कमल हासन ने सिर्फ छह साल की उम्र में ही अभिनय शुरू कर दिया था. उन्होंने 220 से अधिक फ़िल्मों में काम किया है. एक अभिनेता के तौर पर चार राष्ट्रीय पुरस्कार जीते हैं, निर्माता के रूप में एक नेशनल अवॉर्ड जीता है जबकि 10 स्टेट अवॉर्ड जीते हैं. उन्हें पद्मश्री और पद्म भूषण जैसे नागरिक सम्मान भी मिले हैं. दक्षिण भारतीय फ़िल्मों के अलावा उन्होंने हिंदी और बंगाली फ़िल्में भी की हैं.

    कमल हासन ने साल 2018 में अपनी राजनीतिक पार्टी शुरू की थी और चुनाव भी लड़े थे. उनकी पार्टी ने वोट तो हासिल किए लेकिन कोई उल्लेखनीय जीत नहीं मिल सकी. अब वो एक और चुनाव की तैयारी कर रहे हैं.

    हासन परमाक्कुडी में पैदा हुए और चेन्नई में पले बढ़े. वो अब कोयम्बटूर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं. राजनीति में भले ही उनका सफर छोटा है लेकिन फ़िल्मी दुनिया में उनका सफर लंबा रहा है.

    रामनाथपुरम ज़िले के परमाक्कुडी में रहने वाले श्रीनिवासन चर्चित अधिवक्ता थे. श्रीनिवासन और उनकी पत्नी राज लक्ष्मी के चार बच्चे हुए. चारू हासन, चंद्रा हासन, नलिनि और कमल हासन. 7 नवंबर 1954 को जन्मे कमल सबसे छोटे थे.

    कमल हासनः अभिनेता से राजनेता तक एक असली 'दशावतारम'

    कमल हासन

    कोयम्बटूर विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे कमल हासन का राजनीति में सफ़र भले ही छोटा है लेकिन फ़िल्मी दुनिया में उनका सफर लंबा रहा है.

    और पढ़ें
    next
  15. दिल्ली में चली भारत की बुलेट क्या टोक्यो में निशाना भेदेगी?

    निशानेबाज़ी

    इन दिनों दिल्ली की डॉक्टर करणी सिंह शूटिंग रेंज दुनियाभर के 53 देशों के तीन सौ निशानेबाज़ों से गुलज़ार है.

    यहां आईएसएसएफ यानी इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन शूटिंग वर्ल्ड कप का आयोजन किया जा रहा है. यह शूटिंग वर्ल्ड कप 18 मार्च से शुरू हुआ और इसका समापन 29 मार्च को होगा.

    वैसे इस शूटिंग वर्ल्ड कप का आयोजन पिछले साल मई में दिल्ली में ही होना था लेकिन कोरोना महामारी के कारण इसे टालना पड़ा. पिछले साल कोविड के कारण लगे लॉकडाउन के बाद यह पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट है जिसमें शॉटगन, राइफ़ल और पिस्टल निशानेबाज़ों ने हिस्सा लिया.

    इस वर्ल्ड कप में भारत अपनी पूरी ताक़त के साथ उतरा है जिसका अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है कि इसमें वे सभी पंद्रह निशानेबाज़ शामिल हैं जिन्होंने टोक्यो ओलंपिक के लिए टिकट हासिल किया है.

    दिल्ली में चली भारत की बुलेट क्या टोक्यो में निशाना भेदेगी?

    चिंकी यादव

    दिल्ली की डॉक्टर करणी सिंह शूटिंग रेंज इन दिनों दुनियाभर के तीन सौ निशानेबाज़ों से गुलज़ार है.

    और पढ़ें
    next
  16. बीजेपी विधायक के कपड़े फाड़ने के मामले में राकेश टिकैत क्या बोले

    राकेश टिकैट

    भारतीय किसान यूनियन (अराजनीतिक) के नेता राकेश टिकैत ने दावा किया है कि पंजाब के मुक्तसर में बीजेपी विधायक के साथ हुई घटना में उनके लोग शामिल नहीं थे.

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राकेश टिकैत का कहना है कि उनके लोगों ने मुक्तसर से बीजेपी विधायक अरुण नारंग को काले झंडे ज़रूर दिखाए थे, लेकिन उनके साथ किसी तरह की अभद्रता नहीं की थी.

    राकेश टिकैत का दावा है कि ''बीजेपी विधायक के साथ घटना को अंजाम देने वाले वो लोग हैं, जो किसानों को बदनाम करना चाहते हैं.''

    शनिवार को पंजाब के अबोहर में बीजेपी विधायक अरुण नारंग नाराज़ किसानों के ग़ुस्से का शिकार हो गए थे. केंद्र सरकार के तीन कृषि क़ानूनों से नाराज़ लोगों ने मलोट इलाक़े में विधायक नारंग पर हमला कर दिया था. इस हमले में विधायक के कपड़े पूरी तरह फट गए थे और पुलिस ने उन्हें हिंसक भीड़ से किसी तरह बचाया.

    View more on facebook
  17. अमित शाह ने बताया पश्चिम बंगाल और असम में ज़्यादा मतदान का मतलब

    अमित शाह

    भारतीय जनता पार्टी के नेता और गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को दावा किया कि ''पश्चिम बंगाल में 84 प्रतिशत से अधिक और असम में 79 प्रतिशत से अधिक मतदान होना बताता है कि जनता में भारी उत्साह है.''

    शनिवार को इन दोनों राज्यों में विधानसभा चुनाव में पहले चरण का मतदान हुआ. रविवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अमित शाह ने अपने पुराने दावे को दोहराते हुए कहा कि ''बंगाल में बीजेपी 30 में से 26 से अधिक सीटें जीत रही है. असम में भी 47 में से 37 सीटें भाजपा जीतेगी.''

    अमित शाह ने बंगाल में पहले चरण में शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए चुनाव आयोग को बधाई भी दी.

    राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को आड़े हाथों लेते हुए अमित शाह ने कहा कि ''27 साल के कम्युनिस्ट शासन के बाद बंगाल के लोगों को आशा थी कि दीदी एक नई शुरुआत लेकर आएगी. मगर दल का चिन्ह और नाम बदल गया, लेकिन बंगाल वहीं का वहीं रहा बल्कि और गिरावट आई.''

    पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021: अमित शाह का 'बनिया' होना क्या बीजेपी के घोषणापत्र पर अमल की गारंटी है?

    पश्चिम बंगाल चुनाव: कुछ अहम सवाल और बीजेपी, तृणमूल, कांग्रेस और वाम नेताओं के जवाब

    राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार से अहमदाबाद में मुलाक़ात की ख़बरों पर अमित शाह ने कहा कि ''हर बात सार्वजनिक नहीं की जा सकती.''

    नरेंद्र मोदी के बांग्लादेश दौरे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा आलोचना किए जाने के बारे में अमित शाह ने कहा कि ''प्रधानमंत्री की इस यात्रा का मकसद द्विपक्षीय संबंधों को मज़बूत करना है और चुनाव से इसका कोई लेना-देना नहीं है.''

    नरेंद्र मोदी का ओराकांडी दौरा: कौन हैं मतुआ लोग जिन्हें बंगाल चुनाव का निर्णायक फैक्टर बताया जा रहा है

  18. वीगर मुसलमान: ब्रिटेन पर भड़का चीन, बोरिस जॉनसन को दी 'नसीहत'

    वीगर मुसलमान महिला

    ब्रिटेन के पाँच सांसदों समेत नौ लोगों पर प्रतिबंध लगाने के मामले में चीन ने एक बार फिर ब्रिटेन को कड़ा संदेश दिया है.

    चीन ने वीगर मुसलमानों के मसले को लेकर दो दिन पहले इन लोगों पर देश के बारे में 'झूठ और ग़लत जानकारियां' फैलाने के लिए प्रतिबंध लगाया था, जिसपर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने आपत्ति जताई थी.

    अब चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बोरिस जॉनसन को नसीहत देते हुए ट्वीट किया है, “बोरिस जॉनसन उन सांसदों को ब्रिटेन के मतदाताओं ने चुना है. उनके संसदीय क्षेत्र चीन में नहीं हैं. उनको चीन के आंतरिक मामलों में दख़ल देने का अधिकार नहीं है. बल्कि ब्रिटेन के मतदाताओं ने भी अपने चुने हुए सांसदों को झूठ और ग़लत जानकारी फैलाने के लिए अधिकृत नहीं किया.”

    View more on twitter

    दरअसल ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ट्वीट कर कहा था कि “जिन सांसदों और अन्य ब्रितानी नागरिकों पर चीन ने आज प्रतिबंध लगाया है, वो वीगर मुसलमानों के गंभीर मानवाधिकार उल्लंघनों पर रोशनी डालने में अहम निभा रहे हैं.”

    उन्होंने साथ ही कहा था कि उत्पीड़न के ख़िलाफ़ बोलने की स्वतंत्रता मौलिक है और मैं उनके साथ हूं.

    जिस समूह पर प्रतिबंध लगाया गया है, वो चीन की लगातार आलोचना करता रहता है.प्रतिबंधित लोगों की लिस्ट में पूर्व कन्सर्वेटिव नेता सर डंकन स्मिथ, एक वकील और एक शोधकर्ता शामिल हैं.

    ईएन डंकन स्मिथ, नुसरत ग़नी और टॉम टूजेंडधैट (बाएं से) का नाम प्रतिबंधित लोगों की लिस्ट में है
    Image caption: ईएन डंकन स्मिथ, नुसरत ग़नी और टॉम टूजेंडधैट (बाएं से) का नाम प्रतिबंधित लोगों की लिस्ट में है

    वीगर मुसलमानों के कथित मानवाधिकार हनन को लेकर ब्रिटेन की तरफ़ से उठाए गए क़दमों के विरोध में चीन ने ये प्रतिबंध लगाए.ब्रिटेन के विदेश सचिव ने कहा कि अगर चीन "दावों को ख़ारिज करना" चाहता है तो उसे संयुक्त राष्ट्र को शिंज़ियाग में जाने की इजाज़त देनी होगी.

    चीन ने शिनज़ियांग प्रांत में कई वीगर मुसलमानों को बंद कर रखा है. आरोप है कि उन पर यौन शोषण सहित कई अत्याचार किए जा रहे हैं. हालांकि चीन ने अत्याचार के आरोपों से इनकार किया है और वो कैंपों को "पुन: शिक्षा" फ़ैसिलिटी बता रहा है.

    जिन लोगों पर प्रतिबंध लगा है, वो सभी चीन, हॉन्ग कॉन्ग और मकाऊ नहीं जा पाएंगे. चीन में उनकी संपत्ति सील कर दी जाएगी और चीनी संस्थाएं और कंपनियां उनके साथ किसी तरह का व्यापार नहीं कर पाएंगी.

  19. INDvsENG: तीसरा और आख़िरी वनडे, इंग्लैंड का टॉस जीतकर गेंदबाज़ी का फ़ैसला

    View more on twitter

    भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा और अंतिम वनडे मैच पुणे में खेला जा रहा है. इंग्लैंड की टीम ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाज़ी का फ़ैसला किया है.

    भारत की टीम बल्लेबाज़ी के लिए मैदान में उतरी है. सिरीज़ में अब तक दोनों देशों की टीमों ने एक-एक मैच जीतकर बराबरी पर हैं और सिरीज़ जीतने के लिए यह मैच निर्णायक होगा.