Got a TV Licence?

You need one to watch live TV on any channel or device, and BBC programmes on iPlayer. It’s the law.

Find out more
I don’t have a TV Licence.

लाइव रिपोर्टिंग

time_stated_uk

  1. ब्रेकिंग न्यूज़कोरोना: तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच दिल्ली सरकार के बड़े फ़ैसले

    कोरोना

    कोरोना संक्रमण के मामलों में अप्रत्याशित तेज़ी को देखते हुए दिल्ली सरकार ने शनिवार को कई कड़े फ़ैसलों का ऐलान किया.

    प्रशासन ने हर तरह के सामाजिक, राजनीतिक, खेल और मनोरंजन से जुड़ी सार्वजनिक गतिविधियों पर रोक लगा दी है:

    • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों के अलावा किसी को सार्वजनिक स्वीमिंग पूल इस्तेमाल करने की इजाज़त नहीं होगी.
    • दिल्ली आपदा प्रबंधन अथॉरिटी के आदेश के मुताबिक़ शादियों में 50 से अधिक और अंतिम संस्कार में 20 से ज़्यादा लोग शामिल नहीं हो पाएंगे.
    • रेस्तराँ और बार में 50 फ़ीसदी सीटें ही भरी जा सकेंगी.
    • सभी कॉलेज और कोचिंग संस्थान भी बंद रहेंगे.
    • डीटीसी की बसों और मेट्रो की सीटें भी 50 फ़ीसदी तक ही भरी जा सकेंगी.
    • हवाई यात्रा करके महाराष्ट्र से दिल्ली आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य होगी. बिना रिपोर्ट के आने वालों के लिए 14 दिन क्वारंटीन में रहना अनिवार्य होगा.
    View more on twitter
  2. यूपी के इटावा में ट्रक खाई में गिरा, 10 लोगों की मौत, 40 घायल

    प्रतीकात्मक तस्वीर
    Image caption: प्रतीकात्मक तस्वीर

    उत्तर प्रदेश के इटावा ज़िले में शनिवार को एक ट्रक के 30 फ़ुट गहरी खाई में गिरने के कारण दस लोगों की मौत हो गई. पुलिस ने जानकारी दी है कि इसमें 40 लोग घायल भी हुए हैं.

    ये सभी लोग ज़िले के ही एक मंदिर में जा रहे था जब उदी-चकर नगर रोड पर यह दुर्घटना हुई.

    अतिरिक्त पुलिस आयुक्त (सिटी) प्रशांत कुमार प्रसाद ने पीटीआई को बताया कि बढ़पुरा पुलिस स्टेशन इलाक़े में यह घटना तब हुई जब ड्राइवर ने अपना नियंत्रण खो दिया था.

    एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया, "मरने वालों की संख्या 10 है. घायलों को इटावा ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घायल लोगों की गंभीरता को देखते हुए उन्हें अच्छे इलाज के लिए बड़े अस्पतालों में भेजा जाएगा."

    इटावा के एसएसपी बृजेश कुमार सिंह ने बताया है कि यह दुर्घटना शाम 4 बजे के क़रीब हुई.

    उन्होंने बताया, "ट्रक आगरा से इटावा के लखना इलाक़े में कालिका देवी मंदिर जा रहा था जब ड्राइवर ट्रक पर अपना नियंत्रण खो बैठा और यह 30 फ़ीट गहरी खाई में गिर गया."

    उन्होंने बताया कि इस घटना में 40 लोग घायल हुए हैं जिसमें 13 महिलाएं और उतनी संख्या में बच्चे घायल हैं.

    यूपी सरकार ने दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है.

  3. बंगाल चुनाव में हिंसा: अगले 72 घंटों तक कूचबिहार में राजनेताओं की नो एंट्री

    बंगाल चुनाव

    कूचबिहार ज़िले के शीतलकुची विधानसभा क्षेत्र के एक पोलिंग बूथ पर हुई हिंसा को लेकर निर्वाचन आयोग ने कहा है कि सीआईएसएफ़ जवानों का गोली चलाना ज़रूरी हो गया था.

    आयोग ने कहा है कि सीआईएसएफ़ जवानों ने पोलिंग बूथ पर वोट डालने के लिए कतार में खड़े लोगों, मतदान कर्मियों और अपनी की जान बचाने के लिए गोलियां चलाईं क्योंकि भीड़ ने उनके हथियार छीनने की कोशिश की थी.

    इसके साथ ही निर्वाचन आयोग ने ये भी कहा है कि किसी भी पार्टी और राज्य का कोई भी राजनेता को अगले 72 घंटों के लिए ज़िले की सीमा में दाखिल नहीं होना चाहिए और ये आदेश तत्काल प्रभाव से लागू किया जाता है.

    View more on twitter
    View more on twitter
  4. पश्चिम बंगाल चुनाव: चौथे चरण में शाम पांच बजे तक 76.16 फ़ीसदी वोटिंग

    बंगाल चुनाव

    पश्चिम बंगाल की राज्य विधानसभा के लिए चल रहे चुनावों में शनिवार को चौथे दौर की वोटिंग संपन्न हो गई.

    समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ चौथे चरण में शाम पांच बजे तक 76.16 फीसदी वोटिंग दर्ज की गई.

    कूच बिहार ज़िले के सितलकुची विधानसभा क्षेत्र में एक मतदान केंद्र पर हिंसा के कारण निर्वाचन आयोग ने उस बूथ का चुनाव रद्द कर दिया.

    निर्वाचन आयोग ने बताया कि चौथे चरण में विधानसभा की 44 सीटों के लिए 15,940 बूथों पर वोट डाले गए.

    निर्वाचन आयोग ने एक बयान जारी कर बताया कि एक पोलिंग बूथ पर हिंसा की घटना के बाद विशेष पर्यवेक्षक की रिपोर्ट के आधार पर सितलकुची विधानसभा के पोलिंग बूथ संख्या 126 पर का मतदान रद्द कर दिया गया है.

  5. प्रिंस फ़िलिप: महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के पति का निधन

    Video content

    Video caption: प्रिंस फ़िलिप: महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के पति का निधन

    ड्यूक ऑफ़ एडिनबरा अब इस दुनिया में नहीं रहे. 99 साल की उम्र में उनका निधन हो गया. शायद वो दुनिया के सबसे मशहूर पति थे.

    अपनी ज़िंदगी के 70 साल, प्रिंस फ़िलिप ने महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय की परछाईं बन कर गुज़ारे लेकिन उनके व्यक्तित्व की ताकत ऐसी थी कि वो सिर्फ़ एक पति बनकर नहीं रह सकते थे.

    तो महारानी के साथ रहने वाले प्रिंस फ़िलिप कौन थे और उन्होंने महारानी से शादी क्यों की?

  6. नक्सलबाड़ी के चाय बागानों में मज़दूरों का हाल

    Video content

    Video caption: नक्सलबाड़ी के चाय बागानों में मज़दूरों का हाल

    पश्चिम बंगाल के नक्सलबाड़ी विधानसभा क्षेत्र में चाय के बागानों में काम करने वाले लोग किस हाल में हैं?

    चाय बागानों में काम करने वाली महिलाओं को कितना पैसा मिलता है और कितने दिनों का रोज़गार मिलता है?

    चाय बाग़ान में काम करने वालों से बात कर रहे हैं बीबीसी संवाददाता रजनीश कुमार.

  7. प्रिंस फ़िलिप: ब्रिटेन में बेहद सम्मानित शख़्सियत

    Video content

    Video caption: प्रिंस फ़िलिप: ब्रिटेन में बेहद सम्मानित शख़्सियत

    प्रिंस फिलिप को ऐसे शुरुआती लोगों के रूप में याद किया जाएगा, जिन्होंने खुलकर पर्यावरण संरक्षण की वकालत की. बाद में उनके पोते, विलयम और हैरी भी उनके नक़्शे क़दम पर ही चल रहे हैं.

    प्रिंस फ़िलिप लगभग 20 साल तक वर्ल्ड वाइल्डलाइफ़ फ़ंड के अध्यक्ष रहे, जो कि अब वर्ल्डवाइड फ़ंड फ़ॉर नेचर बन गया है. इस पद से हटने के बाद भी वो सक्रिय रहे. बीबीसी संवाददाता फ़िलिपी थॉमस की रिपोर्ट.

  8. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीबीएसई परीक्षा को लेकर क्या हैं चिताएं

    छात्रा

    क़रीब एक महीने बाद सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएँ होनी हैं. जब सीबीएसई ने परीक्षा की तारीख़ों की घोषणा की थी उस वक़्त देश में कोरोना के मामले कम हो रहे थे, लेकिन अब स्थिति बदल चुकी है.

    हाल के दिनों में देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेज़ी आई है. जहां सात अप्रैल को एक दिन में संक्रमण के 115,736 मामले दर्ज किए गए थे, वहीं आठ अप्रैल को 126,789 मामले और नौ अप्रैल को संक्रमण के 131,968 मामले दर्ज किए गए.

    अभी संक्रमण के जितने मामले एक दिन में दर्ज किए जा रहे हैं, उतनी संख्या में मामले कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान भी नहीं आए थे.

    वर्ल्डमीटर्स डॉट इन्फोके अनुसार सितंबर में जब भारत में महामारी की पहली लहर अपने पीक पर थी, उस वक़्त भी एक दिन में कोरोना के एक लाख मामले दर्ज नहीं किए गए थे.

    मौजूदा स्थिति को देखते हुए दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र समेत कई प्रदेशों ने स्कूलों को फ़िलहाल बंद रखने का फ़ैसला किया है. कई राज्यों में रात का कर्फ़्यू और अन्य पाबंदियाँ लगाई हैं.

    कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीबीएसई परीक्षा को लेकर क्या हैं चिताएं

    छात्रा

    हाल के दिनों में देश में कोरोना के मामलों में तेज़ी आई है. इधर सीबीएसई ने कहा है कि चार मई से होने वाली 10वीं और 12वीं की परीक्षाएँ ऑनलाइन नहीं होंगी. इसके लिए कितने तैयार हैं छात्र?

    और पढ़ें
    next
  9. बीबीसी इंडिया बोल, 10 अप्रैल 2021, क्या मौजूदा उपायों से भारत कोरोना से निपट पाएगा?

    बीबीसी इंडिया बोल, 10 अप्रैल 2021

    View more on facebook
    View more on youtube

    कोरोना के हालात को देखते हुए कुछ राज्यों में नाइट कर्फ़्यू लगाया गया है और टीकाकरण अभियान को भी तेज़ करने की कोशिश है.

    लेकिन, फिर भी बढ़ते मामले सरकार की चिंता बढ़ा रहे हैं. क्या मौजूदा उपायों से सरकार कोरोना की रफ़्तार को थाम पाएगी? बीबीसी इंडिया बोल में आज इसी विषय पर चर्चा सुनिए, मोहनलाल शर्मा के साथ.

  10. चुनाव प्रक्रिया में कोविड नियमों के कथित उल्लंघन पर गृह मंत्रालय और निर्वाचन आयोग को नोटिस

    मतदाता

    राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने देश के कई राज्यों में चल रही चुनावी प्रक्रियाओं में कोविड दिशानिर्देश के कथित उल्लंघनों पर मुख्य चुनाव आयुक्त और केंद्रीय गृह सचिव से एक्शन टेकन रिपोर्ट (एटीआर) मांगी है.

    आयोग ने यह फ़ैसला सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील राधाकांत त्रिपाठी की याचिका पर लिया है और चार सप्ताह में रिपोर्ट मांगी है.

    त्रिपाठी का तर्क है कि चुनावी रैलियां, सार्वजनिक प्रदर्शन ‘दो ग़ज़ दूरी, मास्क है ज़रूरी’के नारे को विफल कर रही हैं और भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के लिए ज़िम्मेदार हैं.

    उनका कहना है कि चुनाव आयोग, केंद्र और राज्य सरकारों की चुनावी प्रक्रिया में कथित निष्क्रियता, लापरवाही और विफलता के कारण कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं और अधिक लोग पीड़ित हो रहे हैं.

  11. रूस ने यूक्रेन को क्यों कहा कि उसके अंत की शुरुआत हो सकती है?

    Video content

    Video caption: रूस ने यूक्रेन को क्यों कहा कि उसके अंत की शुरुआत हो सकती है?

    रूस के एक उच्च अधिकारी ने चेतावनी दी है कि अगर यूक्रेन पूर्वी हिस्से में अलगाववादियों पर चौतरफ़ा हमला करता है, तो वह इस हिस्से में रह रहे 'रूसी भाषी लोगों की मदद करने के लिए हस्तक्षेप' कर सकता है.

    पूर्वी यूक्रेन में रूस समर्थित अलगाववादी विद्रोही और यूक्रेन की सेना के बीच झड़प लंबे वक़्त से जारी है. इसके अलावा रूस यूक्रेन के साथ लगने वाली अपनी सीमा पर सैनिको की संख्या लगातार बढ़ा रहा है.

    रूसी अधिकारी दमित्रि कोज़ाक ने कहा है कि अपने नागरिको की 'सुरक्षा' के लिए रूस हस्तक्षेप कर सकता है. आखिर रूस और यूक्रेन के बीच ये विवाद क्यों हो रहा है?

  12. नाइट कर्फ्यू लगाने से रुक जाएगा कोरोना वायरस?

    Video content

    Video caption: नाइट कर्फ्यू लगाने से रुक जाएगा कोरोना वायरस?

    मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश ने कई ज़िलों और शहरों में नाइट कर्फ़्यू लगाने का फ़ैसला किया है. इससे पहले दिल्ली सरकार ने 6 अप्रैल से 30 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ़्यू लगाने का एलान किया था.

    हालांकि इसमें ज़रूरी सेवाओं को छूट दी गई है. बुधवार को पंजाब सरकार ने भी नाइट कर्फ़्यू का एलान किया. वहाँ पर नाइट कर्फ़्यू रात 9 बजे से ही शुरू हो जाएगा.

    दिल्ली से पहले महाराष्ट्र सरकार ने रात 8 बजे से सुबह 7 बजे तक के लिए नाइट कर्फ़्यू लगाया है. देश के कई दूसरे राज्यों ने पहले भी ऐसा किया है. पिछले साल केंद्र सरकार ने भी नाइट कर्फ़्यू के आदेश जारी किए थे.

    लेकिन नाइट कर्फ़्यू लगाने के पीछे लॉजिक क्या है? क्या राज्य सरकारें एक दूसरे को देख कर ऐसा कर रही हैं या केंद्र सरकार की सलाह पर, ये किसी राज्य सरकार ने नहीं बताया.

  13. जॉर्डन में आए संकट को लेकर सऊदी अरब पर शक क्यों

    Video content

    Video caption: जॉर्डन में आए संकट को लेकर सऊदी अरब पर शक क्यों

    जॉर्डन के पूर्व क्राउन प्रिंस ने कहा है कि आलोचकों के ख़िलाफ़ कार्रवाई करते हुए उन्हें घर में नज़रबंद कर दिया गया है.

    बीबीसी को प्रिंस हमज़ा बिन हुसैन के वकील ने एक वीडियो भेजा है.

    प्रिंस हमज़ा किंग अब्दुल्ला के सौतेले भाई हैं और उन्होंने देश के नेताओं पर भ्रष्टाचार, अक्षमता और उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं.

    यह मामला तब सामने आया है जब देश में 'सुरक्षा' कारणों से कई नामचीन लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है.

    इससे पहले सेना ने प्रिंस हमज़ा को नज़रबंद किए जाने से इनकार किया था. क्या है पूरा मामला, समझिए इस वीडियो से.

  14. भारत में क्या कोरोना वैक्सीन का स्टॉक ख़त्म हो रहा है?

    Video content

    Video caption: कोरोना वैक्सीन क्या भारत में ख़त्म हो गई है?

    देश में कोरोना वैक्सीन की कमी को लेकर गृहमंत्री अमित शाह ने सफाई दी है.

    उन्होंने कहा कि वैक्सीन की कमी की बात सही नहीं है.

    इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कोरोना की स्थिति को लेकर ग्रुप ऑफ़ मिनिस्टर्स के साथ हाई लेवल मीटिंग की.

    उन्होंने बताया कि सुबह 9 बजे तक देशभर में अब तक वैक्सीन के 9,43,34,262 डोज़ दिए जा चुके हैं और बीते 24 घंटों में वैक्सीन के कुल 36,91,511 डोज़ दिए गए हैं.

    डॉक्टर हर्षवर्धन ने यह भी बताया कि देशभर में 149 ज़िले ऐसे हैं जहां बीते सात दिनों में कोरोना का एक भी केस सामने नहीं आया.

  15. 10वीं-12वीं सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं कब से होंगी?

    10वीं और 12वीं

    कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परिक्षाएं 4 मई 2021 (मंगलवार) से शुरू होंगी.

    सामान्य तौर पर ये परीक्षाएं मार्च-अप्रैल में होती हैं, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से इस बार बोर्ड की परीक्षाएं देर से हो रही हैं और छात्रों की सुरक्षा के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं.

    10वीं और 12वीं की बोर्ड कीपरिक्षाएंकब होनी है?

    सीबीएसई की ओर से जारी डेट शीट के मुताबिक़, 10वीं की परीक्षाएं 4 मई से 7 जून 2021 के बीच होंगी.

    वहीं 12वीं की परीक्षाएं 4 मई ले 14 जून 2021 के बीच होंगी.

    10वीं की डेट शीट देखने के लिए यहांक्लिक करें. 12वीं की डेट शीट देखने के लिएयहां क्लिककरें.

    सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा अब 15 जून के बाद, प्रधानमंत्री मोदी ने लिया फ़ैसला

    10वीं और 12वीं

    कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच इस बार 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षा को लेकर महत्वपूर्ण फ़ैसला लिया गया है. जानिए छात्रों के लिए क्या है इसके मायने?

    और पढ़ें
    next
  16. कोरोना वैक्सीन: क्या वैक्सीन लेने के बाद भी मुझे कोविड हो सकता है?

    कोरोना वैक्सीन: क्या वैक्सीन लेने के बाद भी मुझे कोविड हो सकता है?

    भारत में कोविड-19 टीकाकरण अभियान जारी है, इस बीच देश महामारी की दूसरी लहर से जूझ रहा है. ऐसे में आपके मन में वैक्सीन को लेकर कई सवाल होंगे. पढ़िए उनके जवाब.

    मैंने वैक्सीन का पहला डोज़ ले लिया है, क्या दूसरे डोज़ के लिए मुझे फिर से रजिस्टर कराना होगा?

    हां, वैक्सीन की दूसरी डोज़ के लिए आपको फिर से अपॉइंटमेंट लेना होगा. ध्यान रखिए, पहली डोज़ लेने के बाद दूसरी डोज़ के लिए अपॉइंटमेंट अपने आप शिड्यूल नहीं होगा. कोविन पोर्टल की मदद से आप उसी वैक्सीन सेंटर के लिए फिर से अपॉइंटमेंट ले सकते हैं, जहां आपने वैक्सीन (कोवैक्सीन या कोविशील्ड) की पहली डोज़ ली थी.

    अगर आपको ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन में कोई दिक़्क़त आए तो आप राष्ट्रीय हेल्पलाइन '1075' पर फ़ोन करके कोविड-19 टीकाकरण और कोविन सॉफ्टवेयर से जुड़ी कोई भी बात पूछ सकते हैं.

    अगर आप ऑनलाइन अपॉइंटमेंट नहीं ले सकते हैं तो भी आपके पास एक विकल्प है. वैक्सीन केंद्रों पर हर रोज़ सीमित संख्या में ऑन-स्पॉट रेजिस्ट्रेशन कराने की सुविधा होती है. मतलब आप सीधे जाकर भी वहां रजिस्टर करा सकते हैं. हालांकि इंतज़ार और लाइन से बचने के लिए कोविन पोर्टल के ज़रिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लेने की सलाह दी जाती है.

    कोविड वैक्सीन: क्या डेल्टा प्लस वेरिएंट पर असर करेगी?

    कोविड वैक्सीन

    कुछ लोगों का मानना है कि नया 'डेल्टा प्लस' वेरिएंट कोरोना वैक्सीन पर भी भारी पड़ सकता है.

    और पढ़ें
    next
  17. कोरोना वैक्सीन वितरण में असंतुलन को लेकर WHO प्रमुख ने दी चेतावनी

    कोरोना वैक्सीन

    विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अमीर और ग़रीब मुल्कों के बीच कोरोना वैक्सीन के असमान वितरण की आलोचना की है और इसे कहा 'चौंकाने वाला असंतुलन' कहा है.

    संगठन के प्रमुख टेड्रॉस एडहोनम गीब्रिएसुस ने कहा है कि संगठन को उम्मीद थी कि शनिवार को सभी देशों में कोरोना टीकाकरण का काम शुरू हो सकेगा लेकिन ऐसा लगता है कि ये लक्ष्य पूरा नहीं हो सकेगा.

    ग़रीब मुल्कों को भी वैक्सीन मिले इसके लिए संगठन ने कोवैक्स नाम की एक मुहिम शुरू की है. इसके ज़रिए संगठन अब तक सौ देशों को 3.8 करोड़ वैक्सीन बांट चुका है.

    योजना के अनुसार कोवेक्स कार्यक्रम के तहत 190 देशों के लोगों को कोरोना वैक्सीन की 2 अरब डोज़ बांटने की विश्व स्वास्थ्य संगठन की योजना है. इसमें ख़ास कर 92 ग़रीब मुल्कों को उसी दौरान वैक्सीन देने की योजना है जब अमीर मुल्कों में लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही होगी.

    WHO प्रमुख ने क्या कहा?

    शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में टेड्रॉस एडहोनम गीब्रिएसुस ने कहा कि “वैश्विक स्तर पर अमीर और ग़रीब देशों के बीच कोरोना वैक्सीन के वितरण में चौंकाने वाला असंतुलन है. वैक्सीन वितरण के औसत को देखें तो अमीर मुल्कों में हर चार में से एक व्यक्ति को कोविड-19 की वैक्सीन मिल रही है. लेकिन ग़रीब मुल्कों में पांच सौ से अधिक लोगों में से एक को वैक्सीन मिल रही है.”

    उन्होंने कहा, “हमें उम्मीद है कि अप्रैल या मई तक हम इस फर्क को कम कर सकेंगे.”

    वैक्सीन पाने की अमीर मुल्कों की होड़ को लेकर उन्होंने कहा, “कोवैक्स कार्यक्रम में शामिल होने की बजाय अपने राजनीतिक और व्यापारिक हितों को देखते हुए कुछ देशों और कंपनियों ने वैक्सीन के लिए द्विपक्षीय करार कर लिए हैं. इससे वैक्सीन के असमान वितरण का ख़तरा और बढ़ गया है.”

  18. बाल सुधार गृह में सीएए-एनआरसी पर चर्चा, राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज

    दानापुर कैंट मध्य विद्यालय

    "मेरा नाम रानी है. मैं सुबह चार बजे उठकर पढ़ती हूं और अपने दोस्तों को भी पढ़ने के लिए बोलती हूं. एनआरसी के विरोध में हूं, क्योंकि हमारे पास घर ही नहीं है तो डॉक्यूमेंट कहां रखेंगे?"

    पटना के दानापुर में स्थित कैन्ट मध्य विद्यालय में चल रहे बाल सुधार गृह की दसवीं की छात्रा राधा (बदला हुआ नाम) ने तीन फ़रवरी 2019 को अपने सुधार गृह के रजिस्टर में एक प्रशिक्षण शिविर के दौरान ये बातें लिखी थीं.

    रजिस्टर में यह भी लिखा था, "एनआरसी और सीएए के कारण लंबे अरसे से रह रहे नागरिकों को अपने भारत में रहने को प्रामाणित करना पड़ेगा. इसका सबसे ज़्यादा प्रभाव उन झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले ग़रीब लोगों पर पड़ रहा है, जिनकी झोपड़ी हर साल बाढ़ या किसी अन्य वजह से टूट जाती है. सरकार की तरफ़ से जो भी बिल पास होता है अगर वह यहां रहने वाले नागरिकों के हित में नहीं है तो हम सबको मिलकर उसका विरोध करना चाहिए और हमें ज़रूरी दस्तावेज़ों को संभालकर रखना चाहिए ताकि ज़रूरत पड़ने पर वह हमारे काम आ सकें."

    ये बातें राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग को इतनी आपत्तिजनक लगीं कि आयोग की चेयरपर्सन प्रियांक कानूनगो ने पत्र लिखकर संस्था और उससे जुड़े लोगों के ख़िलाफ़ देशद्रोह का मुक़दमा दर्ज करने का निर्देश दे दिया और यहां दानापुर थाने में 23 मार्च को राजद्रोह की धारा 124 (A) के तहत मुक़दमा भी दर्ज कर लिया गया है.

    बाल सुधार गृह में सीएए-एनआरसी पर चर्चा, राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज

    दानापुर कैंट मध्य विद्यालय

    पटना के दानापुर में चल रहे एक बाल सुधार गृह से जुड़े लोगों पर इसलिए राजद्रोह का मुक़दमा दर्ज किया गया है क्योंकि उन्होंने सीएए-एनआरसी से जुड़ी परिचर्चा आयोजित की थी.

    और पढ़ें
    next
  19. बिहार: पश्चिम बंगाल में रेड करने गए किशनगंज के पुलिस इंस्पेक्टर की भीड़ ने की हत्या

    अश्विनी कुमार
    Image caption: थाना अध्यक्ष अश्विनी कुमार

    नीरज प्रियदर्शी,

    बीबीसी हिंदी के लिए

    किशनगंज ज़िले से सटे पश्चिम बंगाल के गोवालपोखर थाना क्षेत्र के पांतापाड़ा गांव में भीड़ ने शनिवार सुबह किशनगंज टाउन थाना अध्यक्ष अश्विनी कुमार की पीट पीट कर हत्या कर दी.

    थाना अध्यक्ष अश्विनी कुमार के सिर पर गंभीर चोट लगने से उनकी मौत घटना स्थल पर ही हो गई. घटना के बाद पहुंचे पूर्णिया क्षेत्र के आईजी सुरेश प्रसाद ने बीबीसी से इस मामले की पुष्टि की है.

    उन्होंने बताया, "पश्चिम बंगाल पुलिस ने थाना प्रभारी के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए बंगाल के इस्लामपुर अनुमंडलीय अस्पताल भेजा गया है. मामले की जांच जारी है. बंगाल पुलिस की मदद से संयुक्त छापेमारी कर सभी अभियुक्तों की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी."

    बिहार पुलिस के मुताबिक मारे गए थाना प्रभारी पुलिस बल के साथ मोटरसाइकिल चोर को पकड़ने के लिए बंगाल के पांता पाड़ा गांव में रेड कर रहे थे, जहां भीड़ ने पुलिस कर्मियों पर जानलेवा हमला कर खदेड़ दिया, जबकि थाना अध्यक्ष को मौके पर पकड़कर पीट-पीट कर हत्या कर दी.

    जानकारी के मुताबिक मृतक थाना प्रभारी अश्विनी कुमार पूर्णिया जिले के जानकी नगर थाना क्षेत्र के निवासी और 94 बैच के पुलिस इंस्पेक्टर थे. वे एक साल से किशनगंज में टाउन थाना का प्रभार संभाल रहे थे.

    शुक्रवार को किशनगंज एसपी कुमार आशीष ने क्राइम मीटिंग के दौरान सभी थानाध्यक्षों को चोरी की बढ़ती घटनाओं की रोकथाम के लिए नोटिस जारी कर वारंटियों को गिरफ्तारी करने का टास्क दिया था. थाना प्रभारी उसी काम को पूरा कर रहे थे.

  20. पंजाब में कोविड वैक्सीन का स्टॉक 5 दिनों में ख़त्म हो जाएगा - अमरिंदर सिंह

    कैप्टन अमरिंदर सिंह

    पंजाब में कोविड ​​-19 वैक्सीन का स्टॉक अगले पांच दिनों तक चलेगा. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को ये जानकारी देते हुए केंद्र से वैक्सीन आपूर्ति से जुड़ी जानकारियां साझा करने का अनुरोध किया.

    समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक उन्होंने कहा कि राज्य एक दिन में 85 हज़ार से 90 हज़ार लोगों का टीकाकरण कर रहा है, और इस दर से, पंजाब में 5.7 लाख वैक्सीन की खुराक का मौजूदा स्टॉक पांच दिनों में ख़त्म हो जाएगा.

    उन्होंने कहा कि अगर पंजाब हर दिन 2 लाख वैक्सीन देने के लक्ष्य को पूरा कर लेता है तो आपूर्ति केवल तीन दिनों तक ही चलेगी.

    उन्होंने एक आधिकारिक बयान में कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से अगली तिमाही के लिए आपूर्ति का शेड्यूल साझा करने की गुज़ारिश की है.