#100Women: महिला जिसने कामयाबी के लिए अपना लुक बदल लिया

  • सेरा बकली और ऐमीलिया बटरली
  • बीबीसी न्यूज़

अगर आपको बताया जाए कि एक महिला को अमरीका की सिलिकॉन वैली में कामयाब होने के लिए अपने सुनहरे बालों को अलविदा कहना पड़ा तो शायद आपको हैरत हो. लेकिन यह बात पूरी तरह सच है.

यह कहानी 30 की उम्र में सीईओ बनने वाली एलीन कैरी की है, जो अब ढीले-ढाले कपड़ों में, आंखों पर चश्मा लगाए हुए और भूरे बालों के साथ दिखती हैं.

लेकिन ऐलीन हमेशा से ऐसी नहीं दिखती थीं.

कंपनी में निवेश के लिए छोड़े सुनहरे बाल

कैरी बताती हैं, "जब मैंने पहली बार अपने सुनहरे बालों को भूरे रंग में रंगा तो उसकी वजह वेंचर कैपिटल के क्षेत्र में काम करने वाली एक महिला की सलाह थी.

"मुझे बताया गया कि अगर मेरे बाल सुनहरे के बजाय भूरे होंगे तो निवेश हासिल करने की प्रक्रिया में मदद मिलेगी. क्योंकि इस क्षेत्र में भूरे बालों वाली महिला उद्यमियों को लेकर पैटर्न रिकग्निशन काफ़ी गहरा है."

क्या बला है 'पैटर्न रिकग्निशन'

पैटर्न रिकग्निशन एक थ्योरी है जिसके तहत माना जाता है कि लोग जोख़िम लेने की स्थितियों में जाने-पहचाने दिखने वाले लोगों के साथ जोख़िम उठाने को तरजीह देते हैं.

सुनहरे बालों के साथ एलीन की तुलना एलिजाबेथ होम्स से होती थी, जिनकी कंपनी थेरोनोस हाल ही में कई विवादों का शिकार हुई थी.

कैरी बताती हैं, "भूरे बालों ने मुझे थोड़ा बड़ा दिखने में मदद की है क्योंकि मुझे इसकी जरूरत थी जिससे लोग मुझे गंभीरता से लें."

कैरी की कंपनी ग्लासब्रेकर्स सॉफ़्टवेयर कंपनियों में महिला-पुरुषों की समान वर्कफ़ोर्स बनाने में मदद करती है.

कैरी जब एक बार अपनी कंपनी के लिए कर्मचारियों का इंटरव्यू ले रही थीं तो उनकी मुलाकात ऐसी कई महिलाओं से हुई जिन्होंने अपने सुनहरे बालों को भूरे रंग में रंगा हुआ था.

कैरी बताती हैं, "हमने सुनहरे बालों वाली लड़कियों के प्रति लोगों के जल्दी आकर्षित होने के मुद्दे पर भी बात की. क्योंकि अगर मैं किसी बार में हूं और मेरे बालों का रंग सुनहरा है तो लोग मेरी तरफ़ ज़्यादा आकर्षित होंगे."

वह कहती हैं, "तकनीक की इस दुनिया में मेरे लिए सफ़ल होने के लिए सबसे ज़रूरी चीज़ ये है कि मैं लोगों की नज़र में कम से कम आऊं, ख़ासकर यौन आकर्षण के संबंध में."

लेकिन कैरी ने बालों के रंग के साथ अपने कॉन्टेंक्ट लैंस को भी ना कह दिया है.

वह कहती हैं कि अब वह ढीले-ढाले कपड़े पहनती हैं, क्योंकि पुराने लुक में उनके साथ ऑफ़िस में फ्लर्ट किए जाने की ज्यादा संभावना थी.

बिज़नेस लीडर के रूप में दिखना था

कैरी बताती हैं कि वह यौन आकर्षण की वस्तु की जगह एक बिज़नेस लीडर रूप में दिखना चाहतीं है और इस इंडस्ट्री में यह अंतर अकसर धुंधला हो जाता है.

सॉफ़्टवेयर इंडस्ट्री में यौन शोषण की समस्या

कैरी कहती हैं, "हमारी इंडस्ट्री में यौन शोषण एक समस्या है."

कैरी हाल ही में एक पार्टी में गई थीं, जिसमें परियों जैसी सजी-धजी फीमेल मॉडल कॉकटेल परोस रही थीं. इस पार्टी में महिलाओं के इस अंदाज़ में पेश आने को जिन महिलाओं ने ग़लत माना, उनमें कैरी भी शामिल थीं.

इमेज कैप्शन,

एलीन अपने सहयोगी के साथ

कैरी बताती हैं कि उन पर उनकी मां एलीन सीनियर का काफ़ी प्रभाव पड़ा क्योंकि 1980 के दशक में भी उनकी मां और मौसी नारीवादी थीं.

वह बताती हैं, "मेरी मां के छोटे-छोटे बाल थे, उन्होंने कभी मेकअप नहीं किया और हील्स भी नहीं पहनीं.

इससे पहले कैरी भी हेयर ड्रायर की मदद से हेयर स्टाइल बनवाती थीं और मैनिक्योर करवाती थीं.

अब वह ख़ुद को अपनी मां जैसा मानती हैं क्योंकि उन्हें न तो मेकअप करना पसंद है और न ही हील्स पहनना. वह कहती हैं कि मुझे काम के दौरान बिल्कुल आराम से रहना पसंद है.

कैरी मानती हैं कि उन पर नारीवादी बनने का उतना दबाव नहीं है, जितना उन महिलाओं पर होता है जो परंपरावादी संस्कृति या परिवारों के बीच पली-बढ़ी होती हैं. वह कहती हैं, "मैं खुद को भाग्यशाली समझती हूं कि बचपन में मेरे दिमाग में जेंडर को लेकर रूढ़िवादी विचार नहीं भरे गए."

'कंपनी में रहकर उसे बदल पाना आसान नहीं'

ऊबर से लेकर गूगल तक टेक इंडस्ट्री में सेक्सिज्म और जेंडर पर आधारित समाचार सुर्खियों में रहे हैं. इस पर कैरी कहती हैं कि कर्मचारियों को याद रखना चाहिए कि उन्हें कहां काम करना है, यह चुनाव करना उनके अपने हाथ में है.

इमेज कैप्शन,

एलीन कैरी अपने सुनहरे बालों में

कैरी का कहना कि कंपनी के अंदर रहकर अकेले ही वहां का माहौल बदल पाना मुश्किल हो सकता है.

वह कहती हैं, "अगर आप कंपनी को बदलना चाहते हैं तो पहले आप खुद में वह बदलाव लाइए, जिसे आप दुनिया में देखना चाहते हैं. इसका मतलब यह भी हो सकता है कि भेदभाव के ख़िलाफ़ मुकदमा करने के लिए आपको अपनी निजी जिंदगी का बलिदान देना पड़े. दुर्भाग्य से आप कंपनियों में ऐसे ही बदलाव ला सकते हैं."

कैरी कहती हैं, "या फिर आप ऐसी जगह जाएं, जहां आपको कामयाबी मिले."

  • सिलिकॉन वैली में 2016 में करवाए गए सर्वे के मुताबिक टेक इंडस्ट्री में काम कर रहीं 60 फ़ीसदी महिलाओं ने बताया कि उन्हें किसी न किसी तरह की यौन प्रताड़ना की कोशिश का सामना करना पड़ा.
  • उस साल कार्यस्थल पर भेदभाव के 91,503 मामलों में 30 फ़ीसदी यौन उत्पीड़न के थे.
  • असल मामले ज्यादा हो सकते हैं, क्योंकि 2013 के एक सर्वे से पता चला था कि यौन उत्पीड़न के शिकार 75 फ़ीसदी लोगों ने इस बारे में किसी को नहीं बताया था.

वह बताती हैं कि जो कंपनियां सबको साथ लेकर नहीं चलतीं, नेतृत्व में महिलाओं के लिए जगह नहीं बनातीं, जो महिलाओं के लिए मुश्किल हालात पैदा करती हैं, वे लंबे समय तक टिकने वाली नहीं हैं.

कैरी सलाह देती हैं, "आप वहां काम कर रही महिलाओं की संख्या पर ध्यान दें, नेतृत्व को देखें. जो महिलाएं वहां काम कर रही हैं, उनसे बात करें. अगर आपको लगता है कि आप अपनी क्षमता का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगीं, तो वहां काम न करें."

100 महिलाएं क्या हैं?

बीबीसी हर साल पूरी दुनिया की प्रभावशाली और प्रेरणादायक महिलाओं की कहानियां दुनिया को बताता है. इस साल महिलाओं को शिक्षा, सार्वजनिक स्थानों पर शोषण और खेलों में लैंगिक भेदभाव की बंदिशें तोड़ने का मौका दिया जाएगा.

आपकी मदद से ये महिलाएं असल ज़िंदग़ी की समस्याओं के समाधान निकाल रही हैं और हम चाहते हैं कि आप अपने विचारों के साथ इनके इस सफ़र में शामिल हों.

100Women सिरीज़ से जुड़ी बातें जानने और हमसे सोशल मीडिया पर जुड़ने के लिए आप हमारे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक कर सकते हैं. साथ ही इस सिरीज़ से जुड़ी कोई भी बात जानने के लिए सोशल मीडिया पर #100Women इस्तेमाल करें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)