तस्वीरों में: शरीर पर उकेरी गई खूबसूरत कलाकृतियां

  • 20 जुलाई 2018

प्रदर्शनियों में दीवारों पर टंगी कई ख़ूबसूरत लेकिन निर्जीव पेंटिंग्स आपने देखी होंगी. लेकिन क्या कभी आपने जीती-जागती और चलती-फिरती अद्भुत पेंटिंग्स देखी हैं?

ऑस्ट्रिया के क्लागेनफ़र्ट में हाल ही में कुछ ऐसी ही पेंटिंग्स देखने को मिली. यहां ऑस्ट्रिया ने अपना 21वां वर्ल्ड बॉडीपेंटिंग फ़ेस्टिवल मनाया.

इस मौक़े पर कलाकारों ने अपनी-अपनी मॉडल के शरीर पर ख़ूबसूरत रंग उकेरकर मनमोहक बॉडीपेंटिंग लोगों के सामने पेश की.

इमेज कॉपीरइट Reuters

कला के इस रूप ने लोगों को हैरान कर दिया. वहां से कुछ अद्भुत पेंटिंग्स चुनकर हम आपके लिए यहां ले आए हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इस फ़ेस्टिवल की शुरुआत 1998 में हुई थी. आज इस फ़ेस्टिवल में 50 अलग-अलग देशों के कलाकार शिरकत करते हैं.

यहां पेश की जाने वाली बेहतरीन बॉडीपेंटिंग्स को अवॉर्ड भी दिया जाता है. ये अवॉर्ड कुल 12 कैटेगरी में दिए जाते हैं. इन कैटेगरी में एयरब्रशिंग, स्पेशल इफ़ेक्ट और फ़ेस पेंटिंग शामिल हैं.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पहली नज़र में देखने पर आपको लगेगा कि यहां मौजूद मॉडल्स ने कोई पोशाक पहन रखी है, लेकिन ध्यान से देखने पर पता चलता है कि खिलखिलाते रंगों का इस्तेमाल कर इनके शरीर पर खूबसूरत आकृतियां बनाई गई हैं.

ऊपर दी गई तस्वीर में आप देख सकते हैं कि कैसे एक कलाकार अपनी मॉडल के शरीर पर पेंटिंग कर रही है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

अवॉर्ड के लिए तय की गई कुछ कैटेगरी की पेंटिंग्स के लिए कलाकारों को दो दिन का समय दिया गया. इस फ़ेस्टिवल में हर दिन के लिए अलग थीम रखी गई.

इमेज कॉपीरइट Reuters

फ़ेस पेंटिंग अवार्ड के लिए नामित की गई कृतियां बेहद दिलचस्प रहीं. कलाकारों ने अपनी मॉडल्स के चहरे और गर्दन पर सुंदर चित्र उकेरे.

इमेज कॉपीरइट EPA

यहां की हर बॉडीपेंटिग दूसरी से बिल्कुल अलग थी और देखने वालों को बिना कहे ही एक कहानी बयां कर रही थी.

इमेज कॉपीरइट EPA

फेस्टिवल में बॉडीपेंटिग, मेकअप, फ़ोटोग्राफी, स्पेशल इफेक्ट और एयरब्रश के ट्रेनिंग प्रोग्राम भी चलाए गए.

इमेज कॉपीरइट EPA
इमेज कॉपीरइट Reuters
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images
इमेज कॉपीरइट Getty Images

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे