यहां हर दीवार एक कहानी है

तस्वीरों में देखिए, कैसे स्कॉटलैंड के ग्लासगो शहर की दीवारें कैनवास में तबदील हो गई हैं.

इमेज कैप्शन,

स्कॉटलैंड के ग्लासगो शहर में दीवारों को कुछ इस तरह की भव्य पेंटिंग्स से सजाया गया है. इनका मक़सद कला को बढ़ावा देना है.

इमेज कैप्शन,

इनमें से कई पेंटिंग्स आर्ट पिस्टल की ओर से बनाए गए हैं. आर्ट पिस्टल सार्वजनिक स्थलों पर कला को बढ़ावा देने के लिए काम करने वाला एक समूह है.

इमेज कैप्शन,

इस समूह के प्रवक्ता का कहना है, “यहां आने वाले लोग जिस तरह से दीवारों पर बनीं पेंटिग्स से प्रभावित होते हैं, उसे देखकर काफ़ी खुशी मिलती है.”

इमेज कैप्शन,

पहली बार साल 2008 में एक दीवार पर पेंटिंग बनाई गई थी. उसके बाद शहर में पेंटिंग्स का इजाफा होता चला गया.

इमेज कैप्शन,

सबसे पहले बनीं पेंटिंग्स में से यह एक पेंटिंग है, जिसमें कॉमनवेल्थ गेम के तैराकों को दिखाया गया है.

इमेज कैप्शन,

शहर के बीचों-बीच जॉन स्ट्रीट पर बनी यह पेंटिंग शहर की रौनक है.

इमेज कैप्शन,

ग्लासगो में ब्रूमिलॉ के खंभों में चार चांद लगाती यह पेंटिंग.

इमेज कैप्शन,

ग्लासगो के एक सब-वे में हाथ की परछाई वाली पेंटिंग को दीवारों पर जगह दी गई है.

इमेज कैप्शन,

ग्लासगो की सबसे व्यस्त सड़क 'एर्जाइल स्ट्रीट' पर रॉबर्ट बर्न्स की पेंटिंग बनाई गई है. रॉबर्ट बर्न्स स्कॉटलैंड के मशहूर कवि और गीतकार थे.

इमेज कैप्शन,

जॉर्ज स्ट्रीट पर इस दीवार को वंडरवाल के नाम से जाना जाता है. इसमें यूनिवर्सिटी ऑफ़ स्ट्रेथक्लाइड के छात्रों और शिक्षकों को जगह दी गई है.

इमेज कैप्शन,

ग्लासगो के महान लोगों को क्लुथा बार के बाहर बनी पेंटिंग में जगह दी गई है.

इमेज कैप्शन,

डनलप स्ट्रीट पर बनी एक पेंटिंग.

इमेज कैप्शन,

एर्जाइल स्ट्रीट पर बनी इस पेंटिंग में जानवरों को विषय बनाया गया है.

इमेज कैप्शन,

बैडमिंटन को ध्यान में रखकर बनाई गई यह पेंटिंग ग्लासगो में हुए 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स के मौके पर बनाई गई थी.