कभी गुलिस्तां था ये, अब हुआ उजाड़

किसी शहर को आबाद होने में लंबा वक्त लगता है और उजड़ने में, तस्वीरों में देखिए निमरूद का हाल.

इराक का प्राचीन शहर निमरूद
इमेज कैप्शन,

इराक़ के प्राचीन शहर निमरूद के आईएस के कब्ज़े से आज़ाद होने के बाद वहाँ की बर्बादी दुनिया के सामने आ रही है.

इमेज कैप्शन,

निमरूद का अधिकांश हिस्सा मलबे में तब्दील हो चुका है, मूर्तियां टूटी हुई हैं और जिग्गुरत नामक की प्राचीन इमारत के बहुत छोटे से हिस्से का अस्तित्व बचा है.

इमेज कैप्शन,

पिछले साल आईएस की तरफ़ से जारी वीडियो से प्राचीन स्मारकों और पुरातात्विक महत्व की संरचनाओं के बर्बाद होने का पता चला.

इमेज कैप्शन,

शहर को भीषण संघर्ष के बाद छुड़ाया जा सका.

इमेज कैप्शन,

निमरूद मूसल से 32 किलोमीटर दक्षिण में है. यह लगभग 3300 साल पहले बसाया गया था. बाद में कलखो के नाम से जाना जाने लगा. मेसोपोटामिया काल की राजधानी.

इमेज कैप्शन,

आईएस निमरूद पर जून 2014 में कब्ज़ा किया था. 2015 में इराक़ी पर्यटन मंत्रालय ने कहा कि लड़ाकों ने बुलडोजर और भारी मशीनरी का इस्तेमाल कर ऐतिहासिक स्थलों को ध्वस्त कर दिया है.

इमेज कैप्शन,

दो साल बाद क़बायली मिलिशिया कमांडर अली अलबियाती ने एएफपी से कहा, "जब आप यहाँ पहले आते तो आपको जीवन का एहसास होता था लेकिन अब यहाँ कुछ नहीं है."

इमेज कैप्शन,

अली अलबियाती ने बताया शहर पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है, निमरूद को खोना मेरे लिए अपने घर को खोने से अधिक दर्दनाक है. यूनेस्को ने कहा था कि शहर की बर्बादी किसी युद्ध अपराध से कम नहीं.