वो हंसों के साथ उड़ चलीं

साशा डैंच ने बैविक हंसों की घटती संख्या के बारे में शोध के लिए एक अनोखा तरीक़ा अपनाया.

डेंच एक पैरा मोटर पर सवार होकर, इन हंसों के साथ-साथ रूस से ब्रिटेन तक पहुंची हैं.