जब एक कॉल ने इसराइल को बचा लिया
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

जब एक कॉल ने इसराइल को बचा लिया

  • 11 फरवरी 2017

1973 में इसराइल को इस बात का तो अंदाज़ा था कि मिस्र और सीरिया उस पर हमला करने की योजना बना रहे हैं.

लेकिन ये हमला किस दिन होगा इसकी उनको कोई हवा नहीं थी.

तभी इसराइल की ख़ुफ़िया एजेंसी के पास उसके लिए काम करने वाले एक मिस्री जासूस का फ़ोन आया कि हमला एक दिन बाद शुरू होगा.

ये जासूस और कोई नहीं मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति गमाल नासिर का दामाद, अशरफ़ मरवान था.

इस पूरे प्रकरण पर हाल ही में यूरी बारजोज़ेफ़ की एक किताब प्रकाशित हुई है ‘द एंजिल- द इजिप्शियन स्पाई हू सेव्ड इसराइल’.

विवेचना में रेहान फ़ज़ल च्रर्चा कर रहे हैं इस किताब पर

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)