गाड़ियों से किए जाने वाले हमलों की तहक़ीक़ात

पिछले कुछ सालों में हुए हमलों को विस्फोटकों के बजाय गाड़ियों और कम से कम तकनीक की मदद से अंजाम दिया गया हैं. ऐसे हमले कभी विफल हो जाते हैं तो कभी भारी नुकसान पहुंचाते हैं. खुफ़िया एजेंसियों को भी ऐसे हमलों को भांपने में मुश्किल होती है.