सरकार और किसान, दोनों परेशान!

सरकार और किसान, दोनों परेशान!

तलवार खिंची है फ़सल के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य ना देने के मुद्दे से लेकर क़र्ज़ माफ़ी तक. खेतीबाड़ी अब फ़ायदे का सौदा रह नहीं गया और विरोध जताने के लिए किसान अपनी कई महीनों की मेहनत सड़कों पर फेंकने और बहाने पर मजबूर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)