कौन जला रहा है रोहिंग्या मुसलमानों के गांव?
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

ग्राउंड रिपोर्ट: म्यांमार में कौन जला रहा है रोहिंग्या मुसलमानों के गांव?

  • 12 सितंबर 2017

म्यांमार के रखाइन प्रांत से भागकर जो लगभग तीन लाख रोहिंग्या लोग बांग्लादेश पहुंचे हैं वो सब उत्तरी ज़िलों मोंगडॉ, बुथीडोंग और राथेडांग से आते हैं.

ये म्यांमार में रोहिंग्या आबादी वाले वो अंतिम इलाक़े है जहां रोहिंग्या राहत कैंपों में नहीं हैं.

रोहिंग्या संकट पर क्या कह रही है म्यांमार सरकार?

इन इलाक़ों तक पहुंचना बहुत मुश्किल है. सड़कें बेहद ख़राब हैं, यहां जाने के लिए सरकार से अनुमति लेनी होती है जो पत्रकारों को बहुत मुश्किल से मिलती है.

सरकार ने 18 स्थानीय और विदेशी पत्रकारों को इन इलाक़ों का दौरा कराया और हमने इस मौक़े का यहां पहुंचने के लिए इस्तेमाल किया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे