84 के दंगे: राख से कारोबारी आसमान तक
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

84 के दंगे: राख से कारोबारी आसमान तक

  • 3 नवंबर 2017

साल 1984 के सिख-विरोधी दंगों ने दिल्ली के कारोबारी नरिंदरपाल सिंह की गारमेंट फ़ैक्टरी और मकान को राख में बदल दिया था. वो बदला चाहते थे.

लेकिन उनके माता-पिता ने उन्हें बदला भूलने को कहा क्योंकि वो सही जवाब ना होता. उन्होंने दूसरा जवाब सोचा. बिना किसी सरकारी मदद के नरिंदरपाल सिंह ने अपना कारोबार फिर से खड़ा किया और उसे आज वो 100 करोड़ रुपए के टर्नओवर तक पहुंचा चुके हैं.

वीडियो- प्रीतम रॉय/सरबजीत.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे