बांग्लादेश के इतिहास का सबसे शर्मनाक दिन
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

बांग्लादेश के इतिहास का सबसे शर्मनाक दिन

  • 3 नवंबर 2017

शेख़ मुजीब और उनके परिवार की जघन्य हत्या के बाद बांगलादेश के इतिहास की सबसे हृदय विदारक घटना थी जब 42 वर्ष पूर्व आज ही के दिन 3 नवंबर,1975 को जेल में कैद अवामी लीग के चार चोटी के नेताओं ताजुद्दीन अहमद, सैयद नज़रुल इस्लाम, कैप्टेन मंसूर अली और कमरुज्जमाँ की आटोमेटिक हथियारों और संगीन भोंक कर हत्या कर दी गई थी.

इस हत्याकांड की 42वीं बरसी पर रेहान फ़ज़ल बता रहे हैं, क्या था पूरा मामला, विवेचना में.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे