ये महिला घुड़सवारी की 'दादा' क्यों कही जाती हैं?

रॉयल कलकत्ता टर्फ़ क्लब में घुडसवारी होती है. ये ब्रिटिश काल से चला आ रहा प्रमुख रेसिंग संस्थान है.

हर रोज़ हज़ारों लोग यहां आकर घोड़ों पर पैसा लगाते हैं. यहां घुड़सवारी की ट्रेनिंग भी दी जाती है.

वीडियो: प्रीतम रॉय

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)