'जुगाड़' से दूसरों की ज़िंदगी संवारने वाला शख्स
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'जुगाड़' से दूसरों की ज़िंदगी संवारने वाला शख्स

  • 7 नवंबर 2017

जुगाड़ से ज़िंदगी काफ़ी आसान होती है. रोज़मर्रा की चीज़ों का इस्तेमाल करके आप नए आविष्कार कर सकते हैं जो न सिर्फ आपकी बल्कि दूसरों की ज़िंदगी भी बेहतर बना सकते हैं.

उद्धब भराली ने परिवार का कर्ज़ चुकाने के लिए आविष्कार करना शुरू किया लेकिन अब वह भारत में लोगों की ज़िंदगी संवार रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे