खाड़ी देशों की मदर टेरेसा बनी भारतीय डॉक्टर

खाड़ी देशों की मदर टेरेसा बनी भारतीय डॉक्टर

ज़ुलेख़ा दाऊद वो महिला हैं जो संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय मूल की सबसे पहली महिला डॉक्टर हैं.

खाड़ी देशों में 50 साल से अधिक समय बिताने के बाद भी वह अपने मरीज़ों से जुड़ी हुई हैं.

लेकिन वो न तो अपने देश को भूली हैं और न अपने शहर को. हिंदी अब भी वो मराठी अंदाज़ में बोलती हैं. उनका पासपोर्ट आज भी हिंदुस्तानी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)