रोहिंग्या बच्चों पर अब बीमारियों का हमला
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

म्यांमार: रोहिंग्या बच्चों पर अब बीमारियों का हमला

  • 29 दिसंबर 2017

बांग्लादेश में शरणार्थियों का इलाज कर रही टीमों के मुताबिक़, डिप्थीरिया जैसी ख़तरनाक बीमारी के काफ़ी मामले सामने आ रहे हैं.

ये सांस की एक बीमारी है जो बेहद संक्रामक है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि अब तक यहां इस बीमारी से 20 लोग मारे जा चुके हैं.

साथ ही शरणार्थी शिविरों में इस बीमारी के फैलने का ख़तरा भी बढ़ गया है. चैरिटी मेडिसिन्स सैन्स फ्रंटियर्स के मुताबिक़, उनके पास अब तक इस बीमारी के दो हज़ार से ज़्यादा मामले आ चुके हैं, जिनमें ज़्यादातर मरीज़ 5 से 14 साल की उम्र के हैं.

अगले कुछ दिनों में ब्रिटिश डॉक्टरों और नर्सों का एक दल बांग्लादेश के लिए रवाना होगा. उनकी देखरेख में आपातकालीन चिकित्सा कार्यक्रम होगा ताकि कैंपों में ख़तरनाक बीमारियों को रोका जा सके. देखिए बीबीसी संवाददाता रिचर्ड मेन की ये रिपोर्ट.

मिलते-जुलते मुद्दे