'दहशतगर्दी कैसे रोकें, अमरीका हमसे सीखे'

'दहशतगर्दी कैसे रोकें, अमरीका हमसे सीखे'

पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख़ुर्रम दस्तगीर ख़ान ने बीबीसी उर्दू की संवाददाता फ़रहत जावेद को दिए गए इंटरव्यू में अमरीका और पाकिस्तान के हालिया मतभेद पर ख़ुलकर बात की.

उन्होंने कहा कि कि पाकिस्तान में जमात उद दावा के ख़िलाफ़ हालिया कार्रवाई का ताल्लुक़ अमरीका से नहीं बल्कि ये 'ऑपरेशन रद्द-उल-फ़साद' का हिस्सा है.

इंटरव्यू में ख़ुर्रम दस्तगीर ख़ान का कहना था कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई संगठनों पर पाबंदी लगाई गई, इस संबंध में पाकिस्तान सोच समझकर कदम उठा रहा है.

रक्षा मंत्री का कहना था, "ऐसा नहीं है कि हम बंदूकें लेकर अपने ही देश पर चढ़ दौड़ेंगे बल्कि वह वक़्त गुज़र गया, अब हम नपे तुले और सोच समझकर फैसले करेंगे."

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने हफ़्ते की शुरुआत में ट्विटर पर पाकिस्तान पर इल्ज़ाम लगाया था कि बीते सालों में अरबों डॉलर की मदद लेने के बावजूद पाकिस्तान ने अमरीका को सिवाए झूठ और धोखे के कुछ नहीं दिया है.

अमरीका के पाकिस्तान को मदद बंद करने के फ़ैसले से पाकिस्तान थोड़ा निराश और हैरान है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)