'ऐसे अच्छे दिन ना ही हों तो बेहतर'

'ऐसे अच्छे दिन ना ही हों तो बेहतर'

आम बजट में सरकार को छात्रों के लिए क्या करना चाहिए इस सवाल के जवाब में एक छात्रा ने कहा कि सरकार एजुकेशन में सहयोग करे और रोजगार के अवसर उपलब्ध कराए.

सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए उन्होंने यह भी कहा, ''मोदी सरकार जिस तरह अच्छे दिन का प्रचार कर रही थी, वो विज्ञापन ही ग़लत था क्योंकि बीते चार साल में अच्छा तो छोड़िए, वो भयानक था. ऐसे अच्छे दिन ना ही हों तो बेहतर है.''

शूट-एडिट: बुशरा शेख़

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)