मिस्र में राष्ट्रपति चुनाव को ढोंग क्यों कहा जा रहा है?
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मिस्र में राष्ट्रपति चुनाव को ढोंग क्यों कहा जा रहा है?

मिस्र की जनता 26 और 28 मार्च को राष्ट्रपति चुनाव के लिए वोट डालेगी, लेकिन उनके पास उम्मीदवारों को लेकर ज़्यादा विकल्प नहीं हैं.

बहुत से लोग इसे इकलौते घोड़े की रेस कह रहे हैं. मौजूदा राष्ट्रपति अब्दुल फ़तह अल-सीसी के अलावा एक अन्य उम्मीदवार मैदान में हैं.

सीसी को चुनौती देने वाले कई उम्मीदवार अरेस्ट हुए, उन पर हमले हुए या वो चुनाव से हट गए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

मिलते-जुलते मुद्दे