ख़ुद को खुलकर जीने का मौका देने वाला डांस
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'ख़ुद को खुलकर जीने का मौका देने वाला डांस'

  • 22 मार्च 2018

बचपन में यौन उत्पीड़न झेलने वाली एक लड़की ने इस ट्रॉमा से ख़ुद बाहर आने और दूसरी लड़कियों की मदद के लिए एक ख़ास कदम उठाया.

उन्होंने डांस की एक ऐसी विधा को अपनाया जिससे उन्हें बेहद लगाव है. वो कहती हैं ये डांस सेक्सुअल नहीं कहा जा सकता. उनका मानना है कि डांस के जरिए आप खुशी, दर्द या दुख जाहिर कर सकते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)