भागलपुर से ग्राउंड रिपोर्ट: 'उनके लिए दो ही मुद्दे बचे हैं- मुसलमान और पाकिस्तान'
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

'उनके लिए दो ही मुद्दे बचे हैं- मुसलमान और पाकिस्तान'

  • 6 अप्रैल 2018

17 मार्च को भागलपुर शहर में राम नवमी के मौक़े पर अनाधिकृत जुलूस निकाला गया था जिसके बाद वहां तनाव की स्थिति पैदा हो गई और हिंसा हुई.

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित चौबे की शोभायात्रा के बाद जो सांप्रदायिक तनाव फैला उसे लेकर मुसलामानों का कहना है कि यादवों ने जुलूस का साथ दिया.

इस मामले में अर्जित के ख़िलाफ़ बिहार पुलिस ने सांप्रदायिक तनाव फैलाने के आरोप में एफ़आईआर दर्ज की है.

भागलपुर (प्रमंडल) के कमिश्नर राजेश कुमार का कहना है कि रामनवमी से एक महीना पहले शहर में भगवा क्रांति नाम के एक संगठन का जन्म हुआ. उसने रामनवमी के मौक़े पर विशाल कार्यक्रम का आयोजन किया और राम की विशाल मूर्ति भी बनवाई थी.

भगवा क्रांति का प्रशासन से जुलूस निकालने को लेकर टकराव की भी स्थिति बनी.

(रेडियो रिपोर्ट: रजनीश)

मिलते-जुलते मुद्दे