धंधा-पानी
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

धंधा पानी: डॉलर के आगे रुपया बेहाल, आप पर ये होगा असर

  • 12 मई 2018

अमरीकी डॉलर के मुक़ाबले रुपया 15 महीने के निचले स्तर पर पहुँच गया है. जानकारों की मानें तो रुपये की चाल अभी जल्द तो संभलने वाली है नहीं. अवमूल्यन का मतलब है कि पेट्रोल और खाने पीने की चीज़ें महंगी हो सकती हैं.

अमरीकी डॉलर को वैश्विक करेंसी का रूतबा हासिल है. इसका मतलब है कि निर्यात की जाने वाली ज्यादातर चीजों का मूल्य डॉलर में चुकाया जाता है. यही वजह है कि डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत से पता चलता है कि भारतीय मुद्रा मजबूत है या कमजोर.

अगर रुपया इसी तरह गिरता रहा तो कच्चे तेल का इंपोर्ट हो सकता है महंगा, तो बढ़ सकती है महंगाई- मतलब सब्जियां महंगी होंगी, खाने-पीने की चीजें महंगी होंगी. साथ ही डॉलर में होने वाला पेमेंट पड़ेगा भारी, विदेश घूमना महंगा होगा, विदेशों में बच्चों की पढ़ाई महंगी हो सकती है.

डॉलर के सामने क्यों थरथर कांप रहा है रुपया

स्क्रिप्ट- दिनेश उप्रेती

प्रोड्यूसर - सुमिरन प्रीत कौर

एडिट- निमित वत्स , ऐनिमेशन - निकिता

मिलते-जुलते मुद्दे