मुलाक़ात कपड़े रंगने की कला 'रोगन' के आख़िरी कारीगरों से
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा

मुलाक़ात कपड़े रंगने की कला 'रोगन' के आख़िरी कारीगरों से

  • 18 जुलाई 2018

गुजरात के कच्छ की कपड़ों को रंगने की ख़ूबसूरत कला 'रोगन' की जड़ें ईरान में है. लेकिन अब इस कला को सुरक्षित रख रहा है कच्छ का खत्री परिवार.

ये कहानी है कच्छ के निरोना गांव में रहनेवाले इसी परिवार की जो इस कला के आख़िरी कारीगर हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)