धंधा-पानी : भारत पाकिस्तान व्यापार और चुनौतियां

धंधा-पानी : भारत पाकिस्तान व्यापार और चुनौतियां

हाल ही में पाकिस्तान में आया बड़ा बदलाव. लीडरशिप का नया चेहरा. क्रिकेट के मैदान पर खुद को ऑलराउंडर साबित कर चुके इमरान ख़ान के सामने अब सियासत में भी ऑलराउंड प्रदर्शन करने की चुनौती है. चुनाव जीतने के बाद इमरान ख़ान ने कहा कि वो व्यापार की अहमियत समझते हैं और भारत के साथ व्यापारिक रिश्ते सुधारना चाहते हैं.

भारत और पाकिस्तान के रिश्ते हमेशा से ही ऐताहासिक और राजनीतिक वजहों से तनावपूर्ण रहे हैं. दोनों देश साल 2006 में औपचारिक रूप से व्यापारिक साझेदार बने, जब दोनों देशों ने दक्षिण एशियाई मुख्य व्यापार समझौते यानी साफ़्टा पर दस्तखत किए.

भारत सबसे अधिक सामान अमरीका को एक्सपोर्ट के करता है और उसके बाद संयुक्त अरब अमीरात को. दक्षिण एशियाई देशों में भी भारत का सबसे अधिक एक्सपोर्ट अफ़ग़ानिस्तान को होता है, इसके बाद बांग्लादेश और भूटान हैं और सात देशों की सूची में पाकिस्तान छठे स्थान पर है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)